हैदराबाद : एक दुखद घटना में एमपी स्पोर्टिंग के एक क्रिकेटर 38 वर्षीय विरेंद्र नाइक की रविवार को यहां एमपी ब्लूज के खिलाफ ए-१ दो दिवसीय लीग मैच में खेलते समय मौत हो गई। घटना एमपी ब्लूज ग्राउंड, मारेडपल्ली, सिकंदराबाद में घटी। एमपी स्पोर्टिंग के सचिव एस. वेंकटेश्वरन के मुताबिक नाइक रन बनाकर पवेलियन लौटे थे। जब वे लौटे तो आउट देने के बाद अंपायर के फैसले से खुश नहीं थे।

पवेलियन लौटने पर उन्होंने अपने पैड हटा दिए और भूख होने का हवाला देते हुए इडली लाने का आदेश दिया। इस बीच, वाशरूम गए, जहां वे दरवाजे के पास गिर गए। उनकी टीम के सदस्य उन्हें यशोदा अस्पताल, सिकंदराबाद ले गए, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। शव को पोस्टमार्टम के लिए सोमवार सुबह गांधी अस्पताल ले जाया जाएगा। रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने पिछले मैच में भी बेचैनी की शिकायत की थी। दोनों टीमों के खिलाड़ी यशोदा अस्पताल पहुंचे और सदमे की स्थिति में थे।

एक मैच में विजेता की ट्रॉफी ग्रहण करते विरंद्र नाइक
एक मैच में विजेता की ट्रॉफी ग्रहण करते विरंद्र नाइक

इसे भी पढ़ें :

HCA खिलाड़ी जी गणेश ने जड़ा तिहरा शतक, चौके और छक्के से जीता सबका दिल

15 साल के युवा गेंदबाज ने तोड़ा अनिल कुंबले का रिकॉर्ड, कहा- मुझे अभी भी यकीन नहीं

महाराष्ट्र के रहने वाले नाइक एचएसबीसी में एक टीम लीडर थे और मेहदीपटनम के पास अत्तापुर के रहने वाले थे। नाइक पिछले पांच साल से एमपी स्पोर्टिंग के लिए खेल रहे थे।

इस बीच, हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन (एचसीए) के उपाध्यक्ष जॉन मनोज ने कहा कि वह एक मैच खेलते हुए क्रिकेटर की मौत के बारे में सुनकर हैरान हैं। यह हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन के इतिहास में पहली घटना है। अतीत में खिलाड़ी मैदान पर चोटिल होते थे। लेकिन मौत कभी नहीं घटी।