हैदराबाद: ब्रह्मर्षि सेवा समाज ने दीपावली मिलन का अपना सलाना जलसा इसबार कुछ अलग हटकर और अनोखे तरीके से मनाया। समाज के लोगों ने उत्सव के लिए एक नेत्रहीन विद्यालय को चुना और उसी स्कूल के छात्रों-शिक्षकों के बीच दिवाली हर्षोल्लास के साथ मनाया।

ब्रह्मर्षि सेवा समाज, हैदराबाद की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया कि दीपावली मिलन के नाम से होने वाला उत्सव इसबार अलग रंग में मना। समाज से जुड़े लोग दोपहर बाद बेगमपेट स्थित देवनार स्कूल ऑफ ब्लाईंड में एकत्र हुए और दिव्यांग बच्चों संग दिवाली की खुशियां बांटी। समाज के अध्यक्ष शत्रुघ्न सिंह, उपाध्यक्ष इंदिरा राय, महासचिव निशी कांत पाण्डेय, कोषाध्यक्ष अरविन्द सिंह, आदि के नेतृत्व में दिवाली मिलन का महोत्सव इसबार पारंपरिक तौर-तरीके से अलग हटकर मनाया गया। स्कूल के दिव्यांग बच्चों के लिए कपड़े, मिठाईयां, पठन-पाठन की सामग्री और दैनिक जीवन में उपयोगी आने वाली दूसरी सामग्रियां उपहार के तौर पर दी गयीं।

दिव्यांग स्कूल में ब्रह्मर्षि सेवा समाज ने मनाया दिवाली मिलन 
दिव्यांग स्कूल में ब्रह्मर्षि सेवा समाज ने मनाया दिवाली मिलन 

प्रतीकात्मक तौर पर दीप भी जले और फुलझरियां जलाकर खुशियां मनायी गयीं। ब्रह्मर्षि समाज की महिला शाखा की अहम कार्यकर्ताओं ने बताया कि इसबार अलग तरीके से दिवाली मनाने का विचार महिला सदस्यों के दिमाग में सबसे पहले आया। उनलोगों ने नियमित तौर पर होने वाली किटी पार्टी से पैसे बचाये और इसे समाज के अंतिम पायदान पर खड़े लोगों के कल्याण हेतु समर्पित करने का विचार किया। इसी पवित्र भावना को लेकर समाज ने नेत्रहीन विद्यालय को चुना। उद्देश्य यह रहा कि दिव्यांग बच्चे भी हमारे साथ पर्व-त्यौहारों की खुशियों में शरीक हो सकें।

नेत्रहीन विद्यालय में हुए दिवाली मिलन समारोह में समाज से जुड़े अजय कुमार सिधार्थ रॉय , चंद्रभूषण सिंह , यसवंत, , रघुवीर सिंह , डॉ. सरज कुमार, संजीव सिंह , स्वप्निल, सतीश शर्मा, महिला सदस्यों में प्रमुख रूप से मीत रॉय,रेणु रॉय, रीना पांडेय ,किरण सिंह, अमिता सिंह, रूकमिनी, सरिता सिंह, सुनिता सिंह, अंशु.की उपस्थिति उल्लेखनीय रही। विज्ञप्ति में बताया गया है कि समाज की नयी कार्यकारिणी का शपथ ग्रहण हर साल की तरह इसबार भी वार्षिकोत्सव के दिन दिसम्बर महीने में होगा।