हैदराबाद : आरटीसी जेएसी ने जारी आरटीसी की हड़ताल पर महत्वपूर्ण फैसला लिया है। जेएसी ने संयोजक अश्वत्थामा रेड्डी ने घोषणा की है कि आरटीसी को सरकार में विलय करने की मांग को फिलहाल स्थगित किया गया है। अश्वत्थामा रेड्डी ने कहा कि गुरुवार को मीडिया से इस बात की घोषणा की। उन्होंने आगे कहा कि अन्य मांगों को लेकर सरकार के साथ चर्चा करने के लिए जेएसी तैयार है।

उन्होंने बताया कि है कि शांतिपूर्वक आंदोलन कर रहे आरटीसी कर्मचारियों को गिरफ्तार किया जा रहा है। जेएसी के संयोजक ने बताया कि सेव आरटीसी के तहत कल, शुक्रवार से डिपो के सामने धरना कार्यक्रम किया जायेगा।

उन्होंने कर्मचारियों से आह्वान किया कि वो हिम्मत नहीं हारे। आत्महत्या जैसे कठोर फैसला मत लें। लड़कर मांगों को हासिल करेंगे। आरटीसी आंदोलन को सभी राजनीति दल, जन संगठन, छात्र संगठन और लोगों का समर्थन प्राप्त है। उन्होंने कहा कि आरटीसी कर्मचारियों की सभी आत्महत्याएं सरकारी हत्याएं हैं।

इसे भी पढ़ें :

‘चलो टैंक बंड’ को पुलिस की अनुमति नहीं, JAC ने कर्मचारियों से हैदराबाद पहुंचने का किया आह्वान

TSRTC Strike : तेलुगु तल्ली फ्लाइओवर के निकट तनाव, अश्वत्थामा रेड्डी गिरफ्तार

Video : RTC JAC के चलो टैंक बंड में लाठीचार्ज, अनेक घायल, नेताओं ने कहा-सक्सेस

अश्वत्थामा रेड्डी ने कहा, "15 नवंबर को गांव-गांव में बाइक रैली निकाली जाएगी। 16 से मैं, को-कोन्विनर राजी रेड्डी, लिंगमूर्ति और सुधा आमरण अनशन करेगी। 17 और 18 को सभी डिपो के सामने 50-50 कर्मचारी अनशन करेंगे। 19 नवंबर को तेलंगाना में सड़क बंद किया जाएगा। सड़क बंद के अंतर्गत हैदराबाद से कोदाडा तक रैली निकाली जाएगी।"

आपको बता दें कि आरटीसी की हड़ताल आज 41वें दिन भी जारी है। इसके चलते लोगों को अनेक प्रकार की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।