सिद्दीपेट : गिरीजन छात्रों को मातृभाषा में बातचीत करने पर जुर्माना लगाया जा रहा है। कस्तुरबा गांधी बालिका विद्यालय में छात्राएं ट्राइबल भाषा में बातचीत करती है तो विशेष अधिकारी जुर्माना वसूल रही है। इस संदर्भ में एसओ आदेश जारी कर रहे हैं।

सिद्दीपेट जिला में अक्कनापेट के केजीबीवी आश्रम पाठशाला में यह हो रहा है। अकाउंटेंट नियुक्त होने पर भी सभी काम एसओ द्वारा देखे जाते हैं। निधियों का दुरुपयोग करने के साथ वह जो कहेगी वही लागू की तर्ज पर काम का आरोप लगाया जा रहा है। एसओ की इस बात की जानकारी मिलने पर गिरीजन संघ के नेता भड़क उठे।

इसे भी पढ़ें :

विश्व आदिवासी दिवस : आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में अनेक कल्याणकारी कार्यक्रम

ट्राइबल इलाके के हेल्थ वर्कर्स का वेतन 400 से बढ़कर 4000 हुआ- पुष्पश्रीवाणी

सोमवार को अक्कनापेट मंडल में एमपीपी मालोत लक्ष्मी केजीबीवी बालिका विद्यालय का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने छात्राओं से बातचीत की। बातचीत के दौरान उन्होंने छात्रों से सवाल किया कि मेनु के मुताबिक भोजन दिया जा रहा है या नहीं? इस बीच एक गिरीजन बालिका ने एमपीपी को बताया कि गिरीजन भाषा में बात करने पर उनसे जुर्माना वसूला जाता है। वह सहमकर बोल रही थी कि इस बात की जानकारी उन्हें देने में उसे डर लग रहा है।