हैदराबाद : तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम (टीएसआरटीसी) कर्मचारी जेएसी ने ‘चलो टैंक बंड’ शनिवार को आयोजित किया। जेएसी के नेतृत्व में आयोजित चलो टैंक बंड कार्यक्रम को तेलंगाना के सभी राजनीतिक दल, ओयू छात्र जेएसी और जन संगठनों ने समर्थन किया।

इसी क्रम में पुलिस ने चलो टैंक बंड के चलते आज सुबह 5 बजे से ही पूरे टैंक बंड को बैरेकेड लगा दिया था। एक प्रकार से पुलिस ने सुबह से ही पूरे टैंक बंड को अपने अधीन लिया था। इसके चलते इस मार्ग से गुजरने वालों को अनेक प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

 टैंक बंड पर बैरेकेड
टैंक बंड पर बैरेकेड

पता चला है कि आरटीसी के कुछ कर्मचारी होटल मेरिएट, गौशाला और डीबीआर की ओर से टैंक बंड पर प्रवेश किया। साथ ही उन्होंने सरकार के विरोध में नारे लगाये। पुलिस ने कर्मचारियों को काबू करने के लिए हल्का सा लाठी चार्ज किया। लाठी चार्ज में अनेक लोग घायल हो गये।

इसे भी पढ़ें :

‘चलो टैंक बंड’ को पुलिस की अनुमति नहीं, JAC ने कर्मचारियों से हैदराबाद पहुंचने का किया आह्वान

TSRTC Strike : तेलुगु तल्ली फ्लाइओवर के निकट तनाव, अश्वत्थामा रेड्डी गिरफ्तार

पुलिस का कड़ा पहरा
पुलिस का कड़ा पहरा

दूसरी ओर टीजेएस के अध्यक्ष प्रो कोदंडराम ने कहा कि चलो टैंक बंड सफल हुआ है। उन्होंने चलो टैंक बंड में भाग लेने वालों के प्रति आभार व्यक्त किया।

पुलिस पर पत्थराव करते हुए आंदोलनकारी
पुलिस पर पत्थराव करते हुए आंदोलनकारी

करीमनगर सांसद बंडी संजय कुमार ने कहा कि चलो टैंक बंड से केसीआर का पतन शुरू हुआ है। उन्होंने कहा कि चलो टैंक बंड के दौरान तेलंगाना सरकार का दमन एक बार ताजा उदाहरण देखने को मिला है। पुलिस ने इससे पहले जेएसी के नेताओं को पहले ही हिरासत में लिया था।

आपको बता दें कि आरटीसी की हड़ताल आज 36वें दिन भी जारी है। इसके चलते लोगों को अनेक प्रकार की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।