डेडलाइन खत्म : 208 कर्मी लौट आये, अब RTC और कर्मचारियों की भविष्य पर टिकी सबकी नजरें  

डिजाइन फोटो - Sakshi Samachar

हैदराबाद : मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने आरटीसी की हड़ताल कर रहे तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम (टीएसआरटीसी) के कर्मचारियों को काम पर लौट आने को लेकर दी गई मौलत (5 नवंबर) मंगलवार रात 12 बजे खत्म हो गई।

इसी क्रम में अधिकारियों ने शाम 7 तक प्रदेश में 208 कर्मचारी काम पर लौट आने की जानकारी दी। इसके बाद में इनमें से कुछ कर्मचारी फिर से हड़ताल में शामिल हो की खबर है।

अधिकारियों ने यह भी विश्वास व्यक्त किया है कि देर रात तक और कर्मचारी काम पर लौट आने की उम्मीद है। उन्होंने यह भी बताया कि 3 नवंबर को 17, 4 नवंबर को 34 और आज शाम 157 कर्मचारी काम पर लौट आये हैं।

इसे भी पढ़ें :

TSRTC Strike : KCR बोले- सरकार का उद्देश्य किसी का पेट मारना नहीं, लौट आएं हड़ताली कर्मचारी

KCR के आह्वान के बाद ड्यूटी पर लौटा TSRTC हड़ताली कर्मी

TSRTC Strike: नौकरी से निकालने का अधिकार KCR को नहीं, हड़ताल जारी: JAC

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री केसीआर ने हाल ही में हड़ताल कर रहे कर्मचारियों को चेतावनी दी है कि मंगलवार रात 12 बजे तक कर्मचारी लौट आये। इसके बाद उत्पन्न होने वाले परिणामों के लिए कर्मचारी खुद जिम्मेदार होंगे। साथ ही यह भी कहा है कि सभी रूटों का निजीकरण कर दिया जाएगा।

दूसरी ओर आरटीसी जेएसी ने मात्र समस्याओं का हल होने तक हड़ताल जारी रहने की घोषणा की है। साथ ही चर्चा के लिए बुलाने की मांग की। चर्चा के बाद हड़ताल को समाप्त करने का भी प्रस्ताव रखा।

इसी क्रम में इधर सरकार और उधर आरटीसी जेएसी दोनों अपने अपने फैसलों पर अड़े हैं। सीएम द्वारा दी गई समय सीमा समाप्त होने पर तेलंगाना के परिवहन विभाग और कर्मचारियों की भविष्य का क्या होगा इस ओर सब की नजरे लगी हुई है।

गौरतलब है कि आरटीसी की हड़ताल आज 32वें दिन भी जारी रही है। इसके चलते अनेक लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा है।

Advertisement
Back to Top