हैदराबाद : वरंगल बस डिपो के आरटीसी कंडक्टर की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। तीन दिन पहले उसे दिल का दौरा पड़ा। उसे हैदराबाद के एक अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां पर शनिवार की रात उसकी मौत हो गई। भारी पुलिस बंदोबस्त के बीच कंडक्टर का शव आत्माकुर भेजा गया।

आत्माकुर में तनाव की स्थिति बनी रही। विपक्ष नेताओं ने कंडक्टर के घर में जबरदस्ती घुसने का प्रयास किया। पुलिस ने उन्हें ऐसा करने से रोका। इस पर विपक्ष नेता आंदोलन पर उतर आये।

कंडक्टर की मौत पर आरटीसी कर्मचारियों ने परकाला बस डिपो के सामने धरना प्रदर्शन किया। सरकार के विरोध में नारेबाजी की। आंदोलन के चलते बस डिपो से एक भी बस बाहर नहीं निकली।

इसे भी पढ़ें :

लक्ष्मण का आरोप, तानाशाही रवैये के चलते केसीआर ने टीएसआरटीसी को किया है बर्बाद

TSRTC Strike को लेकर सरकार के रुख से निराश महिला कंडक्टर ने लगाई फांसी

आपको बता दें कि टीएसआरटीसी कंडक्टर रविंदर की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। आरटीसी यूनियनों का कहना है कि बीते दो महीने से कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला है और इससे उन्हें आर्थिक मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। सरकार हड़ताल को लेकर अड़ियल रवैया अपना रही है।