हैदराबाद: बचपन से ही पढ़ाई में तेज तर्रार रही लड़की की मंशा रही कि वह आईपीएस अफसर बनकर सम्मानजनक सेवा करे, लेकिन कुदरत को कुछ और ही मंजूर था। उसकी तबीयक बिगड़ने पर उसे जब अस्पताल में भर्ती किया गया, तब चिकित्सा परीक्षण में पाया गया कि उसे ब्लड कैंसर है। उसकी मंशा अधूरी रहने से वह हताश हुई।

राचकोंडा के पुलिस आयुक्त महेश भागवत को जब इस बात का पता चला तब उन्होंने उस लड़की की मंशा पूरी करने का मन बनाया। उन्होंने उसे एक दिन के लिए उसे आईपीएस अधिकारी बनाया। वह गदगद हो गई। उसने पुलिस आयुक्त महेश भागवत के प्रति धन्यवाद प्रस्तुत किया।

ओल्ड अलवाल की रम्या बचपन से पढ़ाई में अव्वल रही। उसका सपना रहा कि वह उच्च शिक्षा प्राप्त कर आईपीएस अधिकारी बने। लेकिन उसकी आशा पर ग्रहण लग गया। उसका स्वास्थ्य बिगड़ने से उसे अस्पताल में भर्ती किया गया तो पता चला कि वह कैंसर से पीड़ित है। इस बीच मेक-ए-विश फाउंडेशन ने पुलिस आयुक्त महेश भागवत से रम्या की इच्छा के बारे में बताया और उन्होंने उसे एक दिन का आईपीएस अधिकारी बनाने की हामी दी।

इसे भी पढ़ें :

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में पहली हिंदू लड़की बनी पुलिस अधिकारी

हैदराबाद पुलिस ने IPS अधिकारी की गाड़ी का किया चलान

आपको बता दें कि ए नरसिम्हा और ए पद्मा की बेटी रम्या मेडचल जिले में सुचित्रा के एक निजी कॉलेज में इटंरमीडिएट के द्वितीय वर्ष की पढ़ाई कर रही है। 17 साल की उम्र में ही उसे ब्लड कैंसर (ल्यूकेमिया) हुआ।