हैदराबाद : टीआरटीसी कर्मचारियों की हड़ताल को लेकर सरकार चुप्पी साधे हुये है। हाल ही में कर्मचारियों की हड़ताल पर समस्या का समाधान करने को लेकर सरकार ने कोई पहल नहीं की है। उच्च न्यायालय ने सरकार और टीएसआरटीसी कर्मचारियों को समस्या के समाधान के लिए एक कदम पीछे हटने का निर्देश दिया था, लेकिन दोनों ने इसका पालन नहीं किया। समस्या जस के तस बनी हुई है।

सरकार के रवैये को देखते हुये ऐसा लग रहा है कि सरकार देखो और इंतजार करो की नीति अपना रही है। अधिकारियों का कहना है कि हड़ताल और चर्चा को लेकर जब तक उच्च न्यायालय द्वार लिखित तौर पर कोई सुझाव नहीं मिलता, सरकार कोई कारगर कदम उठाने के लिए तैयार नहीं है।

इसे भी पढ़ें :

TSRTC Strike : तेलंगाना बंद का दिख रहा असर, कई नेता गिरफ्तार

TSRTC Strike : HC की तेलंगाना सरकार को फटकार, 3 दिन के भीतर हल निकालने का आदेश

मुख्यमंत्री केसीआर ने आरटीसी हड़ताल को लेकर मंत्री और आरटीसी के उच्च अधिकारियों के साथ समीक्षा की। अधिकारियों ने कहा कि अदालत से सोमवार, 21 अक्टूबर को जानकारी मिलने की संभावना है। सूत्रों के मुताबिक सीएम केसीआर आरटीसी को सरकार में विलय करने का कतई नहीं सोच रहे हैं। वह अपने जिद पर अड़े हैं।