सूर्यापेट : पुलिचिंतला परियोजना में बाढ़ का जलस्तर बढ़ने से अधिकारी सतर्क हो गये हैं। मंगलवार को सुबह पुलिचिंतला परियोजना के 14 गेट खोले गये। परियोजना के जलाशय में 175 फीट जलस्तर की क्षमता होने पर नागार्जुन सागर के गेट पूरी तरह खोले जाने से जलस्तर 152 फीट रहा। इससे नीचले क्षेत्र में प्रकाशम बैरेज बाढ़ आई।

प्रकाशम बैरेज
प्रकाशम बैरेज

प्रकाशम बैरेज में अब तक दस फीट पानी का जमाव हुआ। अधिकारियों ने बताया कि बैरेज में 12 फीट तक पानी का स्तर होने पर पूर्वी और पश्चिमी नहर से जल छोड़ा जाएगा। नागार्जुन सागर और श्रीशैलम में बाढ़ का पानी बढ़ने से पुलिचिंतला परियोजना और प्रकाशम बैरेज में जलस्तर हर घंटे में बढ़ रहा है। इससे परियोजना के प्रभावित क्षेत्रों में अधिकारियों ने लोगों को सतर्क किया।

नागार्जुन सागर
नागार्जुन सागर

पुलिचिंतला में बाढ़ पानी लगातार बढ़ता जा रहा है। परियोजना की जलजमाव क्षमता 45.77 टीएमसी होने पर वर्तमान में 17 टीएमसी जल जमाव हुआ। इस पर जिले के तीन मंडलों के प्रभावित क्षेत्र में रहनेवाले लोगों को सतर्क किया गया। अधिकारियों ने मछुआरों को मछलियां पकड़ने के लिए जलाशय में नहीं जाने की चेतावनी दी।

श्रीशैलम परियोजना
श्रीशैलम परियोजना

राजस्व और पुलिस विभाग के अधिकारी सीमावर्ती क्षेत्र में जलस्तर की समय समय पर जानकारी ले रहे हैं और प्रभावित क्षेत्र के लोगों को सुरक्षित जगह पर जाने की सूचना दी। एसपी ने प्रभावित क्षेत्र में यदि कोई हैं तो उन्हें सुरक्षित स्थान पर जाने की सूचना दी। नागार्जुन सागर परियोजना से नीचले क्षेत्र में 2 लाख क्यूसेक से अधिक जल छोड़ने से सूर्यापेट जिले के पुलिचिंतला परियोजना में बाढ़ के पानी का जमाव बढ़ रहा है।

इसे भी पढ़ें :

पुलिचिंतला परियोजना के ऊठाये गये 14 गेट, जारी की गई यह चेतावनी, देखिए वीडियो

आपको बता दें कि रविवार की शाम तक पुलिचिंतला परियोजना में 1.01 टीएमसी जलजमाव रहा। सोमवार की देर रात तक जलाशय में 17 टीएमसी जल भर आया। परियोजना की जलजमाव की 45.77 टीएमसी है। बाढ़ से केवल जुलाई में परियोजना में जलस्तर बढ़ गया।