हैदराबाद : पुलिचिंतला परियोजना में भारी मात्रा बाढ़ का पानी आ रहा है। इसके चलते प्रशासन सतर्क हो गई है। अधिकारियों ने मंगलवार को सुबह 14 गेट ऊपर उठा दिये हैं। इस परियोजाना की जल क्षमता 175 फीट है। जबकि सागर के गेट ऊपर उठाने के कारण इसकी क्षमता 152 हो गई है। इसके चलते प्रकाशम बैरेज को भारी मात्रा बाढ़ का पानी आ रहा है। बैरेज में अब तक 10 फीट पानी बढ़ गया है।

अधिकारियों ने यह भी बताया कि जैसे ही बैरेज में 12 फीट बढ़ जाएगा, तब दायीं और बायीं नहर को पानी छोड़ जाएगा। सागर और श्रीशैलम से बाढ़ का पानी अधिक मात्रा में आने से पुलिचिंतला व प्रकाशम बैरेज में पल-पल जलस्तर बढ़ता जा रहा है।

दूसरी ओर पुलिचिंतला परियोजना की क्षमता 45.77 टीएमसी है। इस समय 17 टीएमसी जल आया है। इसके सूर्यापेट जिले के तीन मंडलों में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। मछुआरों को शिकार करने नहीं जाने की चेतावनी दी गई है। साथ ही निचले इलाके के लोगों को सुरक्षित प्रांतों में चले जाने की चेतानवी दी गई है।

रात को बिजली की रोशनी में चमकता  परियोजना
रात को बिजली की रोशनी में चमकता परियोजना

इसी क्रम में कर्नाटक और कर्नाटक और महाराष्ट्र में हो रही भारी बारिश के कारण कृष्णा नदी में भारी मात्रा में बाढ़ का पानी आ रहा है। अलमट्टी और नारायणपुर जलाशय पहले से ही लबालब हो चुके हैं। जूराला श्रीशैलम और नागार्जुन सागर में छोड़े गए जल के कारण जलस्तर और भी ज्यादा बढ़ गया है। बाढ़ का पानी अधिक होने के कारण श्रीशैलम के 10 गेट और नागार्जुन सागर के 26 गेट ऊपर उठाकर जल को निचले क्षेत्रों में छोड़ा जा रहा है।

पानी के नजारे को देखते हुए पर्यटक
पानी के नजारे को देखते हुए पर्यटक

अलमट्टी और नारायणपुर से बड़ी मात्रा में पानी आने से जूराला जलाशय भी लबालब भर गया है। इसका कूल इन्फो 8.70 लाख है। जलाशय की क्षमता 9.65 है। जबकि वर्तमान में 5.85 एटीएम जल है।

उधर श्रीशेलम में भी तेजी से बाढ़ का पानी आ रहा है। वर्तमान में 7.53 लाख क्यूसेक इनफ्लो है। जबकि 8.51 लाख क्यूसेक जल नीचे छोड़ा जा रहा है। जलायश के 10 गेटों को 42 फीट ऊपर तक उठाकर नागार्जुन सागर में छोड़ा जा रहा है। बाएं और दाएं स्थित पनबिजली केंद्रों से 8,20,162 क्यूसेक जल को नीचे छोड़ा जा रहा है।

सागर में बह गया व्यक्ति

नागार्जुना सागर जल से भरे होने और निचले इलाकों में जल छोड़ने का नजारा देखने के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक सागर पहुंच रहे हैं। सोमवार को सार्वजनिक अवकाश होने के कारण पर्यटकों की संख्या में काफी वृद्धि देखी गई। इसी दौरान कल शाम को एक व्यक्ति नागार्जुना सागर से छोड़े पानी में तैरने उतरा और देखते ही देखते बह गया।