हैदराबाद : श्री अक्कन्ना मादन्ना महाकाली मंदिर में बोनालू उत्सव शुक्रवार से आरंभ होगा। यह उत्सव आगामी 30 जुलाई तक जारी रहेगा। इस पारंपरिक उत्सव में विभिन्न प्रकार के अनुष्ठानों का आयोजन किया जाएगा। हरिबावली, शाहअलीबंडा स्थित श्री अक्कन्ना मादन्ना महाकाली मंदिर में कमेटी के परामर्शदाता जी राजरत्नम ने मीडिया को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि इस बार ऐतिहासिक मंदिर का 71 वां बोनालू उत्सव है। 19 से 30 जुलाई तक आयोजित होने वाले विभिन्न अनुष्ठानों के बारे में उन्होंने बताया कि उत्सव का शुभारंभ 19 जुलाई को मां के अभिषेक, कलश स्थापना और ध्वजारोहण के साथ होगा। 20 जुलाई को शाम 6 बजे से अक्षिता अर्चना पूजा होगी। 21 जुलाई को महाघट की स्थापना की जाएगी।

राजरत्नम ने बताया कि महाघट को काशीविश्वनाथ मंदिर, शाहअलीबंडा से लाल दरवाजा एक्स रोड, नागुलचिंता, लालदरवाजा बालागंज, गौलीपुरा और मार्ग से होते हुए जुलूस को लाकर अक्कन्ना मादन्ना महाकाली मंदिर में स्थापित किया जाएगा। इसके पश्चात हर दिन घट की विशेष पूजा-अर्चना की जाएगी।

यह भी पढ़ें :

हैदराबाद लाल दरवाजा बोनालु उत्सव में बहुत कुछ खास

तेलंगाना में बोनालु की रौनक, जानिए त्यौहार से जुड़ी मान्यता एवं परंपरा

उन्होंनेे आगे बताया कि 22 जुलाई को शाम 6 बजे रुद्रभिषेक होम का आयोजन होगा। 23 जुलाई को सुबह 11 बजे शांकबरी अलंकार पूजा होगी और रात 8 बजे से जागरण आयोजित किया जाएगा। 24 जुलाई को अनेक भक्ति कार्यक्रम होंगे। 25 जुलाई को शाम 4 बजे से एक लाख पुष्पार्चना कार्यक्रम होगा। 26 जुलाई को सुबह 11 बजे से सामूहिक कुमकुमार्चना और शाम बजे सेएक कुमकुमार्चना कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इसी श्रृंखला में 27 जुलाई को दोपहर 12 बजे चंडी हवन और शाम 7 बजे तोट्टेला शोभायात्रा निकाली जाएगी।

उन्होंने बताया कि बोनाल उत्सव का मुख्य कार्यक्रम 28 जुलाई को आयोजित किया जाएगा। इस दिन नगर के आसपास के जिलों के श्रद्धालु आकर माता के दर्शन करेंगे। जातरा शोभायात्रा का आयोजन 29 जुलाई को किया जाएगा। इसी दिन पोतराजू का स्वागत 11 बजे और रंगम का आयोजन दोपहर 1 बजे होगा।

इसके पश्चात शाम 4 बजे मां घटम को सुसज्जित हाथी पर विराजित कर शोभायात्रा निकाली जाएगी। यह शोभायात्रा बेला, नेहरू प्रतिमा, लाल दरवाजा एक्स रोड, शागइलीबंडा, चारमीनार, पत्थरगट्टी और मदिना मार्ग से होते हुए मूसी नदी, नया पुल से माता मंदिर तक जाएगी। बोनाल उत्सव का समापन 30 जुलाई को होगा।

उन्होंने बताया कि बोनालु को भव्य के साथ आयोजित करने के लिए सभी प्रकार की आवश्यक तैयारियां मंदिर कमेटी द्वारा पुलिस, नागरिक प्रशासन, विद्युत विभाग और सूचना एवं संस्कृति सहित अन्य विभागों के सहयोग से सुनिश्चित की गई है। उन्होंने बताया कि उत्सव में आम जनता के साथ साथ हर वर्ष की भांति नेता, प्रशासनिक अधिकारी, और अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित रहेंगे।

उत्सव में शुक्रवार को आयोजित होने वाले ध्वजारोहण के लिए मंदिर कमेटी ने महापौर बोंतु राममोहन को आमंत्रित किया गया है। बोनालू के संबंध में 24 से 30 जुलाई तक फोटो प्रदर्शनी भी आयोजिते की जाएगी। इस प्रदर्शनी का उद्देश्य नई पीढ़ी को बोनालु उत्सव के विविध पक्षों से अवगत कराना है। प्रदर्शनी का उद्घाटन 24 जुलाई को शाम 5 बजे किया जाएगा। इस दौरान रात 8 बजे दीपोत्सवम तथा छप्पन भोग कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इस अवसर पर विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन भी किया जाएगा।