हैदराबाद : दक्षिण मध्य रेलवे के बजट में तेलंगाना और सीमावर्ती महाराष्ट्र के रेल यात्रियों को राहत मिली है। दमरे की लंबित योजनाओं को पूरा करने के लिए बजट में तवज्जो दी गई है। दमरे की परिधि में विकास की गति तेज होने जा रही है।

दमरे ने अपनी पिंक बुक में योजनाओं का ब्यौरा दिया है। इसके मुताबिक 200 करोड़ रुपयों की लागत से मनोहराबाद और कोत्तापल्ली के बीच नई रेल लाइन बिछाई जाएगी। इस योजना के कार्य को वर्ष 2006-07 में मंजूर किया गया।

तेलंगाना, महाराष्ट्र और कर्नाटक के सीमावर्ती क्षेत्र नांदेड-बीदर के बीच प्रस्तावित नई रेल लाइन बिछाई जाएगी। इन स्टेशनों के बीच 155 किमी का अंतर होगा और इसकी लागत 5,152 करोड़ रुपये होगी।

तेलंगाना के लिए रेल बजट में सबसे महत्वपूर्ण अकन्नापेट और मेदक के बीच नई रेल लाइन का मुद्दा है। इस रेल लाइन के लिए बजट में 20 करोड़ रुपये मंजूर किये गये। इस योजना को वर्ष 2012-13 में मंजूरी मिली।

इसे भी पढ़ें :

कोत्तापल्ली-मनोहराबाद रेलवे लाइन के लिए 200 करोड़ जारी, हैदराबाद जाना होगा आसान

अकन्नापेट और मेदक के बीच 17 किमी नई रेल लाइन बिछाई जा रही है। इस लाइन को पूरा करने के लिए 118 करोड़ रुपये अनुमानित है। इस कार्य को पूरा करने में तेलंगाना सरकार लागत की 50 प्रतिशत राशि वहन करेगी और रेल लाइन बिछाने के लिए जमीन मुफ्त में उपलब्ध करायेगी।