हैदराबाद : तेलंगाना इंटर रिजल्ट में धांधलियों के विरोध में पिछले पांच दिनों से जारी अपने अनशन को तेलंगाना भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष डॉ के लक्ष्मण ने शुक्रवार को तोड़ दिया। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री हंसराज गंगाराम आहिर ने लक्ष्मण को नींबू का रस पिलाकर अनशन समाप्त करवाया।

गौरतलब है कि इंटर रिजल्ट में धांधलियों के विरोध में तेलंगाना बीजेपी छात्रों को न्याय दिलाने की मांग के समर्थन में बड़े पैमाने पर आंदोलन शुरू किया है। इसी क्रम में लक्ष्मण ने गत सोमवार को बीजेपी कार्यालय में अनशन आरंभ किया था।

इसके बाद पुलिस ने उनके अनशन को भंग करने के उद्देश्य से लक्ष्मण को गिरफ्तार करके निम्स अस्पताल में भेज दिया। मगर बीजेपी अध्यक्ष ने निम्स में भी अनशन जारी रखा। इस अवसर लक्ष्मण ने कहा कि छात्रों को न्याय मिलने तक उनका संघर्ष जारी रहेगा।

दूसरी ओर हंसराज ने मीडिया से कहा कि पांच दिनों से अनशन करने के कारण लक्ष्मण का स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ा है। उनके स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए अनशन समाप्त करवाया गया है। उन्होंने खेद व्यक्त करते हुए कहा कि इंटर रिजल्ट में हुई धांधलियों के वजह से छात्रों को आत्महत्या जैसे कदम नहीं उठाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें :

इंटर परिणामों में गड़बड़ी के विरोध में 2 मई को तेलंगाना बंद

हंसराज ने आत्महत्या कर चुके छात्रों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना भी व्यक्त किया है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि शिक्षा मंत्री जगदीश रेड्डी और इंटर बोर्ड के सचिव अशोक को तुरंत हटाये। साथ ही इंटर रिजल्ट धांधलियों की सिटिंग जज से जांच की जाए।

बीजेपी नेता ने कहा कि इंटर रिलज्ट धांधलियों के विरोध में तेलंगाना में आंदोलन को तेज किया जाएगा। साथ ही इस घटना के बारे में केंद्रीय गृहमंत्री और राष्ट्रपति से मिलकर ज्ञापन सौंपेंगे। इस अवसर पर पार्टी के नेता मुरलीधर राव, तेलंगाना बीजेपी प्रभारी कृष्णदास, सांसद बंडारू दत्तात्रेय और अन्य उपस्थित थे।