“जाति और वर्ण व्यवस्था में अंतर की वकालत करने वाले जीयर स्वामी के खिलाफ दर्ज हो देशद्रोह का मामला”

कंचा एइलय्या और चिना जीयर स्वामी (फाइल फोटो) - Sakshi Samachar

हैदराबाद : प्रमुख समाजसेवी और प्रोफेसर कंचा एइलय्या ने मांग की है कि देश में जाति और वर्ण व्यवस्था में अंतर रहने की वकालत और समर्थन करने वाले आंध्रा पीठाधिपति चिन जीयर स्वामी के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया जाए। एइलय्या ने सुंदरय्या विज्ञान केंद्र में टीपीएसके और केवीपीएस द्वारा आयोजित कार्यक्रम में यह मांग की।

एइलय्या ने आगे कहा कि सत्ता में आने से पहले मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव द्वारा चिन जीयर स्वारी के पैर पर साष्ठांग नमस्कार करना खेद की बात है और ऐसा करना संविधान के खिलाफ है। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि सरकार जाति और वर्ण व्यवस्था में अंतर के वकालत करने वाले आंध्रा पीठाधिपति चिनजीयर स्वामी के खिलाफ कार्रवाई नहीं करती है तो वे जीयर स्वामी के 500 एकड़ भूमि में निर्मित आश्रम के सामने धरना करेंगे।

इससे पहले एक अखबार के संपादक भूपति वेंकटेश्वर्लु ने कहा कि संविधान के खिलाफ बयान देने वाले चिन जीयर स्वामी के खिलाफ की जाए। इस अवसर पर केवीपीएस के सचिव टी एस बाबू, कवि के मल्लय्या, जेवीवी नेता टी रमेश, पीएन मूर्ति ने भी चिन जीयर स्वामी के बयान की निंदा की। उन्होंने भी जीयर स्वामी के खिलाफ कार्रवाई करने की सरकार से भी मांग की है।

ये भी पढ़ें:

प्रोफेसर कंचा ऐलय्या के समर्थन में उतरी माओवादी पार्टी

कंचा एलय्या को गिरफ्तारी की मांग को लेकर  आर्य-वैश्य का दिल्ली में धरना

Advertisement
Back to Top