सिकंदराबाद: तेलंगाना में इन दिनों चुनाव अधिकारी खासे परेशान हैं। ऑनलाइन आवेदन के जरिए लोग गलत नामों से वोटर आईडी के लिए आवेदन कर रहे हैँ। इन्हीं में एक EPIC ZEU0462135 है, जिसमें नाम की जगह 'मोदी...मोदी का बेटा' दर्ज है। ऐसा लगता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का छद्म बेटा बनकर किसी ने मजाक किया है।

इसी तरह EPIC नंबर GBZ8252264 से 'बाहुबली' नाम पर चुनाव पहचान पत्र जारी किया गया है। हद ये कि एक महिला वोटर का नाम 'निट सेक्स' नाम से दर्ज है। यहां तक कि गालीगलौज की शब्दावली से भी लोग ऑनलाइन आवेदन दे रहे हैं।

चुनाव अधिकारी इस बात से हैरान है कि लोग व्यवस्था से मजाक करने से बाज नहीं आ रहे। 'बाहुबली', 'इडली', 'एप्पल', 'हैदराबाद', जैसे नामों से जारी वोटर पहचान पत्रों को अधिकारियों ने रद्द कर दिया है। कई लोगों ने 'सेक्स' नाम से वोटर आईडी कार्ड के लिए आवेदन किया है।

यह भी पढ़ें:

YS जगन मोहन का नाम वोटर लिस्ट से हटाने के लिए आवेदन, जानिए पूरी सच्चाई

इस तरह के कम से कम 37 लोगों की पहचान की गई है। जिसके लिए बूथ लेवल अधिकारियों से दरियाफ्त करने को कहा गया है। फर्जीवाड़ा के इस मामले में चुनाव अधिकारी कठोर कार्रवाई की अनुशंसा करते हैं।

मुख्य चुनाव अधिकारी का बयान

तेलंगाना में मुख्य चुनाव अधिकारी रजत कुमार की ओर से जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है कि विधानसभा चुनाव के बाद 17 लाख नए वोटरों को शामिल किया गया है। जबकि करीब ढाई लाख वोटर्स के नाम हटाए गए हैं। वहीं फर्जी वोटरों के नाम हटाने की सिलसिला जारी है।

बूथ स्तर के अधिकारियों को वीवीआईपीज के वोटिंग दस्तावेजों की जांच के सख्त आदेश दिए गए हैं। हाल ही में खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा और आईपीएस कृष्णा प्रसाद के नाम वोटर लिस्ट से गायब पाए गए थे। चुनाव अधिकारी ने दावा किया कि कम ही लोगों के नाम वोटर लिस्ट में छूटे हैं। किसी वीआईपी का नाम छूटने पर मीडिया में चर्चा होना लाजिमी है। वहीं चुनाव अधिकारी इस बात को लेकर सजग है कि किसी बड़ी शख्सियत का नाम वोटर लिस्ट में छूट न जाय।