हैदराबाद : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा अपनी विधानसभा में टीपू सुल्तान और बहादुर शाह जफर की बात करने पर एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने हमला बोला है। उन्होंने कहा कि टीपू सुल्तान हिंदुओं के दुश्मन नहीं थे, वह सल्तनत के दुश्मनों के विरोधी थे।

एक जनसभा को संबोधित करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि इमरान खान परमाणु बम के बारे में बात करते हैं, यह अजीब है। पहले अपने लश्कर-ए-शैतान और जैश-ए-शैतान को संभालें।

आपको बता दें कि भारत की ओर से पाकिस्तान सीमा में आतंक के खिलाफ की गई कार्रवाई के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तानी असेंबली के जॉइंट सेशन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने भारत-पाकिस्तान के संबंधों के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि टीपू सुल्तान और बहादुर शाह जफर का जिक्र किया।

उन्होंने कहा कि बहादुर शाह जफर ने गुलामी या आजादी में से किसी एक चुनना था तो उन्होंने गुलामी को चुना था, जबकि टीपू सुल्तान ने आजादी को चुना था। साथ ही इमरान खान ने कहा कि टीपू सुल्तान पाकिस्तान का हीरो है।

इसे भी पढ़ें :

आतंकवाद पर कार्रवाई से बौखलाए इमरान खान, कहा- जंग होगी तो जवाब देगा पाकिस्तान

बिना हेलमेट बाइक चलाते असदुद्दीन ओवैसी, पीछे बैठे हैं IAS अफसर, जानिए किधर जा रहे?

साथ ही असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मेरी सरहद मजबूत तो मेरा देश मजबूत। भाजपा पर निशाना साधते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मेरे मुसलमान होने पर शायद तुम्हें शक होगा कि ये वफादार है या देशद्रोही है। मगर सुनो मेरी एक बात को। अगर भाजपा यह कह रही है कि मेरा बूथ सबसे मजबूत तो मैं कह रहा हूं कि मेरी सरहद मजबूत तो मेरा देश मजबूत।

एनएनआई के इस ट्‍वीट के बाद जहां कुछ लोगों ने ओवैसी की तारीफ की वहीं कुछ ने उन्हें आड़े हाथों लिया। ओमप्रकाश चौहान नामक ट्‍विटर हैंडल से लिखा गया कि यह तो वही हैं न जो कहते हैं कि भारत माता की जय नहीं बोलूंगा और सिनेमाघरों में राष्ट्रगीत नहीं होना चाहिए।

एक अन्य ट्‍विटर हैंडल से लिखा गया कि इनके छोटे भाई अकबरुद्दीन ओवैसी ने एक बार कहा था कि कुछ समय के लिए पुलिस को हटा लो फिर बताएंगे कि कैसे 25 प्रतिशत लोग 75 फीसदी लोगों को मारते हैं।