हैदराबाद : राचकोंडा की कीसरा पुलिस ने युवक की हत्या की गुत्थी सुलझाकर मृतक के सास, पत्नी, ससुर और उनके साथियों को गिरफ्तार किया है। आपको बता दें कि पिछले 29 जनवरी को धर्मारम गांव के पहाड़ी इलाके में एक युवक की हत्या कर दी गई थी। हत्या के बाद आरोपियों ने युवक के शव पर पेट्रोल डालकर जला दिया। पुलिस ने जले हुए शव को बरामद किया। पुलिस ने मृतक की पहचान शमीरपेट निवासी बोईनी श्रीनिवास (35) के रूप में की थी।

राचकोंडा पुलिस आयुक्त महेश मुरलीधर भागवत ने मीडिया को बताया कि श्रीनिवास की हत्या के मामले में उसके ससुर अद्रासपल्ली निवासी तिंगाला यादगिरी, उसके दोस्त एस रमेश, मृतक की पत्नी बोईनी सप्ना, मृतक की सास लक्ष्मी और ससुर पी मल्लेशम को गिरफ्तार किया गया है।

इसे भी पढ़ें:

जयराम की मौत का मामला ले रहा है नया मोड़, पुलिस थाने से शिखा की कार नदारद

जयराम चिगुरुपाटी की हत्या के आरोप में राकेश रेड्डी गिरफ्तार, नहीं हो रही है स्पष्टता

सीपी ने बताया कि श्रीनिवास कोई काम धंधा नहीं करता था और शराब पीकर पत्नी और बच्चों के साथ-साथ सास-ससुर को शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहा था। श्रीनिवास की हरकतों से तंग आकर उसकी पत्नी और सास-ससुर ने उसे रास्ते से हटाने की योजना बनाई। सोची समझी साजिश के तहत पिछले 28 जनवरी की रात को श्रीनिवास को यादगिरी और रमेश ने अपने साथ धर्मारम गांव के पहाड़ी इलाके में ले गए। रास्ते में उन्होंने एक वाइंस की दुकान से शराब की बोतल खरीदी, जो उनकी गिरफ्तारी का कारण बनी।

उन्होंने बताया कि पहाड़ी इलाके में ले आने के बाद दोनों ने श्रीनिवास को खूब शराब पिलाई और बाद में उसके सिर पर पत्थर पटक उसकी हत्या कर दी। मृतक की पहचान मिटाने के लिए आरोपियों ने शव पर पेट्रोल डालकर जला दिया। पुलिस को दूसरे दिन घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंची। पुलिस ने श्रीनिवास के शव के साथ घटनास्थल पर से एक खाली शराब की बोतल भी बरामद की। शराब की बोतल पर लगे बारकोड के आधार पर पुलिस ने पहले शराब की दुकान का पता लगाया।

पुलिस ने शराब की दुकान के पास लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच पड़ताल की। पुलिस ने जांच पड़ताल के दौरान मृतक को दो लोगों के साथ मोटरसाइकिल पर जाते हुए देखा गया। इसके बाद पुलिस ने उनके बयान के आधार पर मामले में शामिल सभी लोगों को गिरफ्तार किया है।