हैदराबाद : केंद्रीय चुनाव आयोग की विफलता के विरोध में तेलंगाना कांग्रेस पार्टी ने गुरुवार को इंदिरा पार्क के पास भारी विरोध प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शन में टीपीसीसी के अध्यक्ष उत्तम कुमार रेड्डी, सीएलपी नेता भट्टी विक्रमार्क, सीपीआई सचिव चाडा वेंकट रेड्डी, पूर्व मंत्री अजीज पाशा, पूर्व मंत्री मर्रि शशिधर रेड्डी, डीके अरुणा, अंजन कुमार यादव और अन्य उपस्थित थे।

इस अवसर पर नेताओं ने कहा कि तेलंगाना विधानसभा भंग करके मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव द्वारा चुनाव की घोषणा करने से स्पष्ट होता है कि निर्वाचन आयोग और टीआरएस के बीच मिलीभगत हुई है। इसीलिए चुनाव के नतीजे आने के बाद मुख्यमंत्री ने केंद्रीय निर्वाचन आयोग से मिलकर धन्यवाद व्यक्त किया है।

यह भी पढ़ें :

Assembly Elections Result 2018 : सबसे तेज और अपडेट परिणाम के लिए क्लिक करें..

KCR को तेलंगाना चुनाव में TRS की भारी जीत पर दी YS जगन ने बधाई !

नेताओं ने कहा, "मतदाता सूची में से अनेक नाम गायब हो गये थे। इसकी शिकायत करने पर भी ध्यान नहीं दिया गया। चुनाव के बाद निर्वाचन अधिकारी रजत कुमार ने माफी मांगी। चुनाव में भी पोलिंग और काउंटिंग में फर्क था। देश भर में ईवीएम को लेकर संदेह है। विकासशील देशों में भी पेपर बैलेट का ही इस्तेमाल किया जा रहा है। आने चुनाव में पेपर बैलेट इस्तेमाल किया जाना चाहिए। चुनाव परिणाम से पहले इतने सीटों पर जीत हासिल करने के टीआरएस के दावे पर भी संदेह हैं।"

नेताओं ने आरोप लगाया कि कहा, "टीआरएस ने सरकारी तंत्र को अपने अपने कब्जे में कर रखा है। अधिकारी ही वोटरों के बीच पैसे बांटते पाये गये। वोटरों की सूची में गड़बड़ी होने के चलते मर्रि शशिधर रेड्डी कोर्ट भी गये। निर्वाचन आयोग ने मतदाता सूची में संशोधन का आश्वास भी दिया। फिर भी विधानसभा चुनाव में 22 लाख वोटर क्यों गायब हुए? सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार ही वीवीपैट लेकर आये। मगर इसका उपयोग नहीं किया गया।”

नेताओं ने कहा “जहां पर उम्मीदवारों को संदेह है वहां पर इसकी गिनती की जानी चाहिए थी। मगर ऐसा नहीं किया गया। रजत कुमार की व्यवहार शैली पर संदेह है। इस मामले को लेकर रजत कुमार के खिलाफ जांच की जानी चाहिए। चुनाव आयोग के खिलाफ इतना बड़ा आरोप पहले कभी नहीं आया है।"