हैदराबाद : तेलंगाना में कुछ एग्जिट पोल में तेलंगाना राष्ट्र समिति और कांग्रेस के नेतृत्व वाले ‘प्रजा कुटमी' (जन गठबंधन) में कांटे की टक्कर बताई जा रही है, लेकिन दोनों ही पक्षों ने विधानसभा चुनावों में आसानी से बहुमत हासिल करने का शनिवार को दावा किया।

शुक्रवार को मतदान पूरा होने के बाद कुछ समाचार चैनलों द्वारा घोषित एग्जिट पोल के नतीजों में टीआरएस की जीत का पूर्वानुमान व्यक्त किया गया जबकि कुछ अन्य ने कहा कि मुकाबला कांटे का है। मतों की गिनती 11 दिसंबर को होगी।

टीआरएस नेता और कार्यवाहक सरकार में मंत्री के टी रामा राव ने शनिवार को कहा कि टीआरएस दो तिहाई बहुमत के साथ सत्ता में आएगी। रामा राव टीआरएस अध्यक्ष के चंद्रशेखर राव के बेटे हैं। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘कई (सर्वे एजेंसियों) ने सीधे कहा कि टीआरएस सत्ता में आएगी। लेकिन, हमें निश्चित रूप से विश्वास है कि एग्जिट पोल में उन्होंने जो अनुमान लगाया, उससे ज्यादा, टीआरएस दो तिहाई बहुमत और 100 सीटों (119 कुल सीटों में से) पर जीत के साथ सत्ता में आने जा रही है।''

उन्होंने दावा किया कि अधिक संख्या में लोगों का अपने मताधिकार का इस्तेमाल करना एक मूक क्रांति और एकपक्षीय फैसले (टीआरएस के पक्ष में) का संकेत है। रामा राव ने कहा कि टीआरएस के कई मतदाताओं ने शुक्रवार को शिकायत की कि मतदाता सूची में उनके नाम नहीं मिल रहे।

इसे भी पढ़ें :

लगडपाटी सर्वे घोषित, महाकूटमी को मिल सकती हैं 55 से 75 तक सीटें, TRS 25 से 45

‘प्रजा कुटमी' के नेताओं- तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस समिति (टीपीसीसी) अध्यक्ष एन उत्तम कुमार रेड्डी, तेदेपा की तेलंगाना इकाई के अध्यक्ष एल रमणा, भाकपा नेता सी.वेंकट रेड्डी और तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) - ने भी अपने गठबंधन के सत्ता में आने का भरोसा जताया है।

उत्तम कुमार रेड्डी ने शनिवार को संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुझे नहीं पता कि एग्जिट पोल क्या कहते हैं। हम कह रहे हैं कि हमें 75-80 सीटें मिलेंगी और हम सरकार बनाएंगे।'' उन्होंने कांग्रेस, तेदेपा, भाकपा और टीजेएस के नेताओं तथा कार्यकर्ताओं से कहा कि वे ईवीएम को लेकर सतर्क रहें।