तेलंगाना चुनाव में TRS और कांग्रेस के बीच होगी लड़ाई, दूर-दूर तक नहीं है BJP 

कांसेप्ट फोटो - Sakshi Samachar

हैदराबाद : चुनावी राज्य तेलंगाना में सत्तारूढ़ टीआरएस और कांग्रेस नीत विपक्षी गठबंधन ने दावा किया है कि उसके बीच सीधी लड़ाई होगी और भाजपा समूचे परिदृश्य में कहीं नहीं है। दूसरी तरफ, भगवा पार्टी का कहना है कि तेलंगाना में खंडित जनादेश होगा और संकेत है कि वह किंगमेकर के तौर पर उभरेगी।

कांग्रेस के तेलंगाना मामलों के प्रभारी आर सी खुंटिया ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘भाजपा के पास (भंग विधानसभा में) पांच सीटें थी। इस बार यह घटकर एक या दो रह जाएंगी।''

इसे भी पढ़ें :

राजस्थान में ये बागी बनेंगे भाजपा के लिए मुसीबत, पहली सूची के बाद इन इलाकों में विद्रोह

तेलंगाना राष्ट्र समिति के सुप्रीमो के. चंद्रशेखर राव के बेटे और कार्यवाहक सरकार में अहम मंत्री के. टी. रामा राव की भी यही राय है। उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस हमारी मुख्य प्रतिद्वंद्वी है। भाजपा का तेलंगाना में अस्तित्व नहीं है।''

रामा राव ने दावा किया कि (राज्य में 119 में से) 100 से ज्यादा सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो जाएगी और भंग विधानसभा के एक भी सदस्य फिर से सदन में नहीं आ पाएंगे। हालांकि, भाजपा स्थिति को दूसरे तरीके से देख रही है।

इसे भी पढ़ें :

तेलंगाना कांग्रेस ने जारी की 65 उम्मीदवारों की सूची, सहयोगी दलों को मिली 26 सीटें

TDP ने तेलंगाना चुनाव के लिए घोषित किए उम्मीदवारों के नाम, देखें पूरी लिस्ट

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता जी. वी. एल. नरसिंह राव ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘हमें छुपा रूस्तम माना जा रहा है। हमारी संभावनाओं से हमें कम आंका गया है। हमारा मानना है कि भाजपा तेलंगाना में हैरान करेगी और सकारात्मक नतीजे लेकर आएगी।''

इसे भी पढ़ें :

कांग्रेस की सूची से महाकूटमी में दरार, बागी उम्मीदवार के रूप में उतरने की धमकी

Advertisement
Back to Top