‘महाकूटमी’ से पड़ने वाले असर के आकलन में जुटे हैंं KCR

डिजाइन फोटो  - Sakshi Samachar

हैदराबाद : तेलंगाना में कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व में टीडीपी, भाकपा और टीजेएस की महाकूटमी (महागठबंधन) में सीटों का बंटवारा हो जाने के मद्देनजर तेलंगाना राष्ट्र समिति के सुप्रीमो व तेलंगाना के कार्यवाहक मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव अब उससे टीआरएस पर पड़ने वाले असर का आकलन में जुट गए हैं।

केसीआर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं व विभिन्न निर्वाचन क्षेत्रों के पार्टी प्रभारियों के साथ चर्चा करते हुए निर्वाचन क्षेत्रों की मौजूदा स्थिति जानने के साथ-साथ पार्टी उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने के लिए जरूरी दिशा-निर्देश जारी कर रहे हैं।

हालांकि टीआरएस के अधिकांश नेताओं का कहना है कि उम्मीदवारों के नाम घोषित करने के बाद महाकूटमी में घमासान शुरू होगा, जोकि टीआरएस के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा। उनका मानना है कि महाकूटमी के उम्मीदवारों की घोषणा के बाद 80 प्रतिशत से अधिक निर्वाचन क्षेत्रों में बगावत की स्थिति पैदा होगी। केसीआर पार्टी नेताओं को महाकूटमी की स्थितियों के अनुरूप राजनीतिक रणनीति अमल करने के निर्देश दे रहे हैं।

इसे भी पढ़े :

‘महाकूटमी’ में उम्मीदवारों को लेकर सस्पेंस बरकरार, नेताओं की बढ़ी बेचैनी

तेलंगाना BJP ने हैदराबाद में उतारे दो मुस्लिम उम्मीदवार, देखें पूरी सूची

केसीआर ने उम्मीदवारों के लिए हर जिले में चुनावी सेल गठित करने का फैसला किया है, जिसके तहत राज्य के 31 जिलों में अधिवक्ताओं व चार्टेड अकाउंटेंट और मुख्य नेताओं की मौजूदगी में सेल गठित किए जाएंगे। यह सेल चुनाव आचार संहिता के अनुरूप टीआरएस के उम्मीदवारों को समय समय पर जरूर सूचना देना और जरूरी पत्र तैयार करने का काम करेगा।

Advertisement
Back to Top