हैदराबाद: आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में सड़क मार्ग के बीच बने प्रार्थना स्थल और मंदिरों को हटाने के संदर्भ में उच्च न्यायालय, हैदराबाद में याचिका दायर की गई। याचिका में बताया गया है कि सड़क मार्ग पर बीच रास्ते में बने प्रार्थना स्थलों और मंदिरो के चलते वाहनचालकों और स्थानीय लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

मामिडी वेणुमाधव ने उच्च न्यायालय में उपरोक्त याचिका दायर की। उन्होंने कहा है कि अवैध रूप से बनाए गए प्रार्थना स्थलों और मंदिरों की चाहरदिवारी से सटकर कुछ लोगों ने व्यापार केंद्र बना रखे हैं। इन केंद्रों के आसपास से वाहनों के ठहरने और बीच रास्ते में प्रार्थना स्थल या मंदिर के चलते वाहनचालकों और आम लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

इसे भी पढ़ें:

तेलंगाना विधानसभा भंग करने के खिलाफ उच्च न्यायालय में दायर याचिका खारिज

याचिका पर उच्च न्यायालय ने आंध्र प्रदेश और तेलंगाना सरकार से विवरण मांगा है। बता दें कि वर्ष 2013 में आंध्र प्रदेश सरकार ने 150 बगैर अनुमति के बनाए गए प्रार्थना स्थल एवं मंदिरों को बीच सड़क मार्ग से हटाया गया, इस तरह का काउंटर दाखिल किया था।