हैदराबाद: 'ब्रह्रषि सेवा समाज' की महिलाओं और बच्चों ने शमीरपेट स्थित निजी रिजॉर्ट में सावन मिलन का आयोजन किया। इसमें महानगर के विभिन्न इलाकों की महिलाओं ने शिरकत की। इस दौरान तंबोला, संगीत, डांस सहित विभिन्न सांस्कृतिक गतिविधियां आयोजित की गई। बच्चों के बीच तैराकी और दूसरी खेल प्रतियोगिताएं करवाई गई।

खेल प्रतियोगिता में मेकअप गेम की विजेता सरिता सिंह, उप विजेता उमा रॉय और मनोरम शर्मा रहीं।

वरिष्ठ महिलाओं की दौड़ प्रतियोगिता की विजेता सुनिता सिंह, उप विजेता संगीता सिंह, सरिता सिंह रहीं।

यह भी पढ़ें:

सावन के इन ‘झक्कास’ गीतों से कर लीजिए अपना व्हाट्सएप स्टेटस अपडेट

महिला कार्यकारिणी की वरिष्ठ सदस्य संगीता सिंह के नेतृत्व में कार्यक्रम का सफल आयोजन हुआ। जिसमें मीता रॉय, सुनिता रॉय, रेणु रॉय, रीना रॉय, अमिता सिंह, रंजना मिश्रा, निरुपमा सिंह, मनोरमा शर्मा, विभा ठाकुर, मितिलेश झा, सुनिता सिंह, उषा, शारदा, किरण, बबीता शंकर, नीलाम रॉय ने सक्रिय भूमिका निभाई।

सावन मिलन का महिलाओं के लिए बड़ा महत्व है। जानकारों की मानें तो सावन का महीना प्रकृति के सौंदर्य का महीना होता है। वहीं शास्त्रों के मुताबिक महिलाओं को प्रकृति का रूप माना गया है। लिहाजा महिलाएं इस महीने अपने अनुपम सौंदर्य और ऊर्जा से लबरेज होती हैं।

सावन की हरियाली को प्रतिबिंबित करती हरी हरी चूड़ियों का भी बड़ा महत्व है। आयोजित कार्यक्रम में महिलाओं ने खासकर हरे परिधानों पर जोर दिया था।

सावन में महिलाओं का मेहंदी लगाना भी काफी मायने रखता है। मान्यता है कि जिसकी मेहंदी जितनी लाल होती है उसे उतना ही पति और ससुराल का प्रेम मिलता है।

वैज्ञानिक नजरिए से देखा जाय तो सावन में बरसात के कारण कई बीमारियों की आशंका होती है। लिहाजा हरे रंग को धारण करने से इन बीमारियों से बचा जा सकता है। मेहंदी भी इस महीने स्वास्थ्य रक्षा में कारगर साबित होती है।