शैक्षणिक व्यवस्था को सर्वनाश करने पर तुले हैं CM केसीआर : कांग्रेस

डिजाइन फोटो - Sakshi Samachar

हैदराबाद : कांग्रेस पार्टी ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव शैक्षणिक व्यवस्था को नजरअंदाज कर रहे हैं। तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता हर्षवर्धन रेड्डी ने सोमवार को गांधी भवन में मीडिया से यह बात कही।

उन्होंने आगे कहा कि केसीआर ने चुनाव के दौरान केजी से पीजी तक फ्री में शिक्षा उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया था। पहले 3 तीन किलोमीटर और अब 5 किलोमीटर दूरी तक के स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया है। केसीआर का यह फैसला छात्रों के साथ अन्याय करना है। कांग्रेस पार्टी केसीआर के इस फैसले की नीति की निंदा करती है।

उन्होंने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि 12,440 स्कूलों को बंद किये जाने के कारण ग्रामीण प्रांतों के छात्र मूलभूत प्राथमिक शिक्षा से वंचित हो जाएंगे। प्रवक्ता ने सरकार को सुझाव दिया कि शिक्षा पर किये जाने व्यय को पूंजी के रूप में देखा जाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें :

हैदराबाद: पूर्व सांसद हनुमंत राव और हर्ष कुमार हिरासत में, अंबेडकर की मूर्ति लगाने पर बवाल

हनुमंत राव बोले- तेलंगाना में पिछड़ी जाति के नेता को पीसीसी अध्यक्ष बनाना जरूरी

प्रवक्ता ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों की शिक्षा पूरी तरह से तहस-नहस हो चुकी है। तेलंगाना गठन के बाद एक शिक्षक की भी पदोन्नति नहीं हुई है। एक नये टीचर को भी नियुक्त नहीं किया गया है। 12 हजार स्कूलों को बंद किये जाने के कारण 36 हजार शिक्षकों की नौकरी चली जाएगी। शिक्षा अधिकार कानून के अनुसार 3 किलोमीटर दूरी पर स्कूल होनी चाहिए। 5 किलोमीटर दूरी पर के स्कूलों को बंद किये जाने के कारण 6 लाख छात्रों को मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि तेलंगान गठन होने के बाद शिक्षा व्यवस्था में सुधार होने की कल्पना की गई थी। मगर केसीआर शिक्षा को सर्वनाश करने पर तुले हैं। उन्होंने इस फैसले को वापस लेने का केसीआर से आग्रह किया है।

Advertisement
Back to Top