हैदराबाद : मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम (टीएसआरटीसी) हड़ताल समीक्षा की। गुरुवार को लगभग 6 घंटे से अधिक समय तक चली। पता चला है कि समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान हालत में आरटीसी को चलाना संभव नहीं है। हर महीने 640 करोड़ चाहिए। शुक्रवार को हाईकोर्ट के फैसले के बाद ही सरकार कोई निर्णय लेगी।

कल रूटों के निजीकरण को लेकर हाईकोर्ट में सुनवाई होगी। कोर्ट के फैसले बाद ही सरकार कोई एक निर्णय लेगी। कोर्ट में कल सुबह 10.30 बजे सुनवाई होगी।

इस समय आरटीसी पर 5 हजार करोड़ कर्ज है। सितंबर वेतन के लिए 240 करोड़ चाहिए। ऐसे हालत में आरटीसी को रन करना मुश्किल है। फिर भी कल के हाईकोर्ट के फैसले के बाद ही कोई एक निर्णय लिया जाएगा।

आपको बता दें कि कल आरटीसी जेएसी ने कहा है कि कोर्ट और कर्मचारियों की भावनाओं का सम्मान करते हुए हड़ताल समाप्त करते हैं। मगर कर्मचारियों पर कोई शर्त नहीं रखे। यदि शर्त रखी जाती है तो आरटीसी की हड़ताल जारी रहेगी।

इसी क्रम मेंजेएसी की घोषणा के बाद कर्मचारी गुरुवार को ड्यूटी में ज्वाइन होने के लिए डिपो गये। मगर अधिकारियों ने किसी भी कर्मचारी को काम पर नहीं लिया।