हैदराबाद : हैदराबाद में एक सभा में अयोध्या फैसले को लेकर कुछ लोगों द्वारा कथित रूप से आपत्तिनजक और बहुत ही भड़काऊ नारे लगाने और टिप्पणियां करने के सिलसिले में एक महिला के खिलाफ राजद्रोह एवं अन्य आरोपों का मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस ने बताया कि बृहस्पतिवार को सईदाबाद में एक स्थान पर उपासना के बाद ये नारे कथित रूप से लगाये गये। उसके बाद उसने (पुलिस ने) स्वत: ही उसका संज्ञान लेकर मामला दर्ज किया है। पुलिस ने बताया कि प्राथमिक जांच के बाद एक महिला की पहचान कर ली गयी है।

मामले की जांच बढ़ने के बाद यह पता चलेगा कि इस घटना में कौन कौन लोग शामिल हैं। पुलिस के अनुसार भादंसं की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है और उसमें राजद्रोह के आरोप भी जोड़े गये हैं। उच्चतम न्यायालय ने नौ नवंबर को अयोध्या में विवादित स्थल पर राममंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर दिया था।

यह भी पढ़ें :

अयोध्या फैसला - विवादित स्थल पर मंदिर, मस्जिद के लिये वैकल्पिक स्थान दिया जाए : सुप्रीम कोर्ट

अयोध्या मामले में SC का ऐतिहासिक फैसला स्वागत योग्य है, होगा नया इतिहास का निर्माण

इस एफआईआर के बाद बीजेपी विधायक राजा सिंह लोध ने कहा कि अयोध्या के फैसले के बाद कुछ लोग भारत का खराब करने का प्रयास कर रहे थे। हैदराबाद महिलाओं की एक टीम है, जिसने सईदाबाद क्षेत्र में एक कार्यक्रम के लिए पुलिस से अनुमति ली।

इस समारोह में आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाली और सुप्रीम कोर्ट के फैसले का विरोध करने वाली महिलाओं पर केस हुए। ऐसे में अगर कोर्ट के आदेश का अपमान करने और आपत्तिजनक टिप्पणी पर इन महिलाओं पर राजद्रोह का केस हो सकता है तो हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी पर भी कोर्ट के आदेश का अपमान करने पर ऐसा ही मुकदमा किया जाना चाहिए।