महबूबनगर (तेलंगाना) : भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की नेता और पूर्व मंत्री डीके अरुणा ने कहा कि आरटीसी हड़ताल के तूफान में मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (केसीआर) तबाह हो जाएंगे। डीके अरुणा ने सोमवार को मीडिया से यह बात कही।

उन्होंने आगे कहा कि आरटीसी कर्मचारियों की कोई बहुत बड़ी मांगे नहीं है। यदि सरकार इसी तरह व्यवहार करती है तो आरटीसी हड़ताल जल्द ही सार्वजनिक आंदोलन में तब्दील हो जाएगी।

पूर्व मंत्री ने कहा कि आरटीसी कर्मचारियों को 'सेल्फ डिसमिस' कहने का अधिकार केसीआर को नहीं है। सेल्फ डिसमिस केवल केसीआर के लिए लागू होती है। आरटीसी कर्मचारियों पर सेल्फ डिसमिस लागू नहीं होती है। उन्होंने कहा कि केसीआर ने लाखों करोड़ों का कर्ज लिया हैं। मगर आरटीसी बकाया राशि का भुगतान नहीं किया है।

इसे भी पढ़ें :

TSRTC Strike : सरकार की Wait and Watch की नीति, समस्या जस के तस

TSRTC Strike: 16वें दिन भी जारी, JAC ने घोषित की भविष्य आंदोलन की यह रूपरेखा

अरुणा ने केसीआर से सवाल किया कि आरटीसी बकाये राशि का भुगतान क्यों नहीं किया है? केसीआर को यह बताना चाहिए। केसीआर के भ्रष्टाचार का चिट्टा जल्द ही खुलासा होगा और जेल भी जाएंगे।

उन्होंने कहा कि आरटीसी की सुरक्षा करना सरकार की जिम्मेदारी है। मगर केसीआर ने आरटीसी की संपदा को टीआरएस के नेताओं को सौंप पर तुले हैं। बीजेपी नेता ने मांग की है कि हाईकोर्ट का सम्मान करते हुए सरकार आरटीसी कर्मचारियों के साथ चर्चा शुरू करें और उनकी समस्याओं का समाधान करें।

इसे भी पढ़ें :

TSRTC Strike : तेलंगाना बंद का दिख रहा असर, कई नेता गिरफ्तार

TSRTC Strike : HC की तेलंगाना सरकार को फटकार, 3 दिन के भीतर हल निकालने का आदेश

आपको बता दें कि टीएसआरटीसी कर्मचारियों की हड़ताल का आज 17वें दिन भी जारी हैं। हड़ताल के चलते जन सामान्य को अनेक प्रकार की मुश्लिकों का सामना करना पड़ रहा है। आज से शुरू हुए स्कूल और कॉलेज के कारण छात्रों की भी अनेक प्रकार तकलीफें हुई है।