हैदराबाद : तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के कार्यकारी अध्यक्ष केटी रामाराव ने बताया कि पार्टी की सदस्यता संख्या लगभग 60 लाख हुई है। पार्टी की सदस्यता दर्ज/स्वीकार करने का आखिर दिन था। केटीआर ने गुरुवार को तेलंगाना भवन में पार्टी सदस्यता की समीक्षा बैठक की।

इस अवसर पर केटी रामाराव ने बताया कि 60 लाख में से 50 लाख सदस्यों का डेटा तैयार किया गया है। इनमें 20 लाख सक्रिय सदस्य होंगे। तथा 50 लाख सदस्यों को बीमा किया जा चुका है। इसके लिए आवश्यक राशि 20,27,950 रुपये तेलंगाना भवन में जमा किया गया है।

केटीआर ने निर्वाचन क्षेत्र के प्रभारियों को इतनी बड़ी संख्या में सदस्यता दर्ज किये पर जाने बधाई दी। उन्होंने कहा कि सदस्यता संख्या से स्पष्ट होता है कि तेलंगाना में टीआरएस से कोई और शक्तिशाली पार्टी नहीं है।

इसे भी पढ़ें :

वरिष्ठ पत्रकार देवुलपल्ली अमर आंध्र प्रदेश सरकार के सलाहकार नियुक्त

केटीआर ने यह भी बताया कि सदस्यता दर्ज में गज्वेल जिले में सबसे अधिक 90,575 सदस्य बनाये गये हैं, जबकि वर्धन्नापेट में सबसे कम 64,850 सदस्य बनाये गये हैं। इसी तरह क्रमश: मेडचल में 80,175, पालकूर्ति में 74,650, मुलूगु में 72,262, महबूबनगर में 70,475, सत्तूपल्ली में 67,850, पालेरू में 69,175, सूर्यापेट में 66,875 और सिद्दिपेट में 64,575 सदस्य बनाये गये हैं।

कार्यकारी अध्यक्ष ने यह भी कहा कि टीआरएस की तुलना में बीजेपी की बहुत कम सदस्यता दर्द हुई है। तेलंगाना में बीजेपी की सदस्यता संख्या केवल 12 लाख हैं।

केटीआर ने निर्देश दिया कि दशहरा त्योहार तक पार्टी के निर्माण कार्य पूरा हो जाना चाहिए। साथ ही इस महीने के अंत तक पार्टी की कमेटियों का गठन भी हो जाना चाहिए। ये कमेटियां सरकार और लोगों के बीच एक सेतु का काम करेगी। सितंबर के पहले सप्ताह से निर्वाचन क्षेत्रीय स्तर की पार्टी की समीक्षा बैठकें आयोजित की जाएगी।