हैदराबाद : तेलंगाना में वृद्धावस्था पेंशन स्कीम की आयु को 65 से घटाकर 57 साल कर दिया गया है। मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (केसीआर) की अध्यक्षता में बुधवार को प्रगति भवन में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में वृद्धावस्था पेंशन स्कीम को मंजूर करते हुए फैसला लिया गया।

आपको बता दें कि चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री केसीआर ने वृद्धावस्था पेंशन की आयु सीमा को 65 से घटाकर 57 करने का आश्वासन दिया था। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आदेश दिया कि 57 साल आयु वाले गरीब वृद्धों की सूची तैयार कर पेंशन जारी किया जाए। इस माह की 20 तारीख तक बढ़ाए गए पेंशन से संबंधित प्रोसीडिंग्स को सभी निर्वाचन क्षेत्रों में लाभान्वित में वितरित किया जाए।

सूत्रों ने बताया कि बूढ़े, विधवा, ताड़ी और अन्य वृद्धों को 2016 रुपये देने का मंत्रिमंडल ने निर्णय लिया गया है। इसी तरह कलाकारों को दिए जा रहे डेढ़ हजार रुपये पेंशन को 3016 करने का भी सरकार ने निर्णय लिया है। उन्होंने बताया गया है कि सरकार ने इस साल की जून महीने से ही बढ़ाई गई पेंशन को अमल में ले लाने का अधिकारियों को आदेश दिया है। इसके मुताबिक जून का पेंशन जुलाई में वितरित किया जाएगा।

यह भी पढ़ें:

इसलिए गहराता जा रहा है पेयजल का संकट, जानिए दक्षिण भारत का हाल

महानगर में पेयजलापूर्ति संकट पर जलापूर्ति के प्रबंध-निदेशक दाना किशोर ने दी यह सफाई

20 जुलाई को पेंशन वितरण कार्यक्रम में मंत्री सहित विधायक, सांसद, एमएलसी और जिला परिषद के चेयरमैन भाग लेंगे। लाभान्वितों को उनके बैंक खातों में पेंशन की राशि जमा करवा दिया जाएगा। इस योजना से हर साल 12 हजार करोड़ का सरकार पर भार पड़ेगा।

इसी दौरान बीड़ी मजदूरों को 17 जुलाई 2019 तक पीएफ का खाता रहने वालों को पेंशन उपलब्ध कराने का भी फैसला लिया है।