हैदराबाद : तेलंगाना में कांग्रेस पार्टी खाली होती जा रही है। पिछले दिनों हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर जीतने वाले सभी विधायक एक के बाद एक पार्टी छोड़ रहे हैं। अब कांग्रेस विधायक दल (काविद) का टीआरएस में विलय करने की मांग करते हुए कांग्रेस छोड़ चुके 12 विधायकों ने गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष पोचारम श्रीनिवास रेड्डी से मिले।

इस संबंध में 12 विधायकों ने अपने हस्ताक्षरों के साथ एक ज्ञापन विधानसभा अध्यक्ष को सौंपा। स्पीकर से मिलने वालों में सबिता इंद्रारेड्डी, गंड्रा वेंकट रमणा रेड्डी, आत्रम सक्कू, हरिप्रिया, जाजुला सुरेंदर, बीरम हर्षवर्दन रेड्डी, सुधीर रेड्डी, वनमा वेंकटेश्वर राव, रेगा कांताराव, पायलट रोहित रेड्डी, कंदाला उपेंदर रेड्डी, चिरुमर्ति लिंगय्या शामिल है।

उन्होंने बताया कि वे सभी मुख्यमंत्री केसीआर के नेतृत्व में काम करने के लिए तैयार हैं और अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों के विकास के लिए ही उन्होंने यह निर्णय लिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि उनके इस निर्णय को लोगों का समर्थन प्राप्त है।

संवैधानिक रूप से ही काविद के विलय की मांग करने का हवाला देते हुए विधायक जल्द ही विधानसभा सचिव से भी मिलने वाले हैं।

पिछले वर्ष हुए तेलंगाना विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी के 19 विधायक चुने गए थे, लेकिन उनमें से 12 विधायक टीआरएस में शामिल हो चुके हैं। इनसबके आधिकारिक रूप से टीआरएस में शामिल नहीं होने के बावजूद उनका कांग्रेस के साथ अब कोई संबंध नहीं रहा है।

दूसरी तरफ, विधायक भट्टि विक्रमार्क, श्रीधर बाबू, सीतक्का, पोड़ेम वीरय्या, जग्गारेड्डी और कोमटीरेड्डी राजगोपाल रेड्डी ही पार्टी में हैं। हाल के आम चुनाव में तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एन. उत्तम कुमार रेड्डी के सांसद चुने जाने से उन्होंने हुजुरनगर विधानसभा सीट से अपना इस्तीफा दे दिया है।

इसे भी पढ़ें :

सत्ता व जीत के नशे में चूर होने से बचें पार्टी के नेता व कार्यकर्ता : KTR

कांग्रेस पार्टी में अब सिर्फ 6 विधायक बचे हैं। परंतु पोड़ेम वीरय्या के भी पार्टी बदलने का प्रचार हो रहा है। ऐसे में तकनीकी रूप से 12 विधायकों के पार्टी छोड़ने पर विधानसभा में काविद का अस्थित्व मुश्किल हो जाएगा।

दूसरी तरफ, ताजा घटनाक्रम कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को हजम नहीं हो रहे है। कावित कार्यालय पहुंचे भट्टि विक्रमार्क अब पार्टी के नेताओं के साथ भविष्य की योजना पर चर्चा करने वाले हैं। उससे पहले ही उपरोक्त सभी विधायक प्रगति भवन पहुंच कर टीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष केटीआर से जाकर मिले।