हैदराबाद : जिला परिषद और मंडल परिषद के चेयरमैनों का चयन जल्द से जल्द कराए जाने की मांग को लेकर कांग्रेस, तेलुगु देशम पार्टी, सीपीआई, तेलंगाना जन समिति और अन्य पार्टी के नेताओं ने शुक्रवार को प्रदेश निर्वाचन अधिकारी को ज्ञापन सौंपा।

इसके बाद कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष उत्तम कुमार रेड्डी ने मीडिया से कहा कि जिला परिषद और मंडल परिषद के चेयरमैनों का चयन के लिए 40 दिन का समय दिया गया तो सत्तापक्ष के नेता हमारे नेताओं को प्रलोभन देने की संभावना है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए जेडपीटीसी और एमपीटीसी के चुनाव परिणाम होने के तीन दिन में जिला परिषद और मंडल परिषद चेयरमैनों का चयन किया जाए।

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कालाधन और पुलिस के बल पर अन्य पार्टी के नेताओं को लोकतंत्र के विरुद्ध सत्तापक्ष में शामिल करवा लिया है।

यह भी पढ़ें :

5 साल में पीएम मोदी की पहली प्रेस कान्फ्रेंस, फिर से किया सरकार बनाने का दावा

कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष ने कहा कि आगामी 27 मई को मतगणना होने के तीन दिनों के भीतर जिला परिषद और मंडल परिषद चेयरमैनों का चयन किया जाए। ऐसा करने से आगामी 5 जुलाई को चार्ज भी लिया जा सकता है। ऐसा करके निर्वाचन अधिकारी लोकतंत्र की रक्षा कर सकते हैं।

एल रमणा व शब्बीर अली...

तेलंगाना तेलुगु देशम पार्टी के अध्यक्ष एल रमणा और कांग्रेस पार्टी शब्बीर अली ने कहा कि देश के कानून पर मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव को सम्मान नहीं है। इसी बात को प्रदेश निर्वाचन अधिकारी से स्थानीय निकायों के चुनाव परिणाम और चेयरमैन का चयन ठीक प्रकार से कराने का आग्रह किया गया है। यदि ज्यादा समय दिया गया तो 538 एमपीपी और 28 जेडपी चेयरमैन टीआरएस ही जीतने की संभावना है। केसीआर के शासनकाल में लोकतंत्र का खुले हत्या की जा रही है।