हैदराबाद : तेलंगाना कांग्रेस पार्टी ने प्रोटेम स्पीकर और एआईएमआईएम विधायक मुमताज अहमद खान के खिफाफ आपत्ति जनक टिप्पणी करने वाले बीजेपी विधायक टी राजा सिंह को अयोग्य करार देने की सरकार से मांग की है। कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता डॉ दासोजु श्रवण ने मीडिया से यह बात कही।

उन्होंने आगे कहा कि प्रोटेम स्पीकर मुमताज अहमद की नियुक्ति का विरोध करके राजा सिंह ने अल्पसंख्यक समुदाय का अपमान किया है। राजा सिंह का यह रवैया लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता के विरुद्ध है। ऐसे व्यक्ति को विधानसभा में बैठने का अधिकार नहीं है। इसीलिए उन्हें तत्काल अयोग्य करार दिया जाए।

यह भी पढ़ें:

प्रोटेम स्पीकर से शपथ न लेने वाले विधायक राजा सिंह मांगे माफी : प्रभाकर

प्रवक्ता ने सांसद असदुद्दीन ओवैसी एवं मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की आलोचना करते हुए कहा कि बीजेपी ईमानदारी नाम की कोई चीज नहीं है। यदि ईमानदारी थोड़ी सी भी बची है तो मुस्लिम समुदाय को अपमानित करने वाले विधायक राजा सिंह को तुरंत निष्कासित कर दे।

उन्होंने बताया कि राजा सिंह के खिलाफ 43 आपराधिक मामले दर्ज हुए हैं। इसके बावजूद ऐसा सरकार ने उन्हें गिरफ्तार नहीं किया है। उन्हें सवाल किया कि स्वयं को धर्मनिरपेक्षता बताने वाले केसीआर इस मामले में खामोश क्यों हैं? साथ ही सवाल किया कि राजा सिंह और केसीआर के बीच क्या कोई गुप्त समझौता हुआ है?

यह भी पढ़ें:

राजा सिंह का पलटवार, कहा- वोट बटोरने के लिए ओवैसी दे रहे हैं भड़काऊ बयान

तेलंगाना BJP विधायक ने मुस्लिम प्रोटेम स्पीकर से शपथ लेने से किया इनकार

प्रवक्ता ने कहा कि ओवैसी बंधु और राजा सिंह हमेशा भड़काऊ भाषण देते रहते है। यह तीनों नेता अपनी बयानबाजी से एक दूसरे को लाभ पहुंचाने का प्रयास करते हैं। मगर सरकार उनके खिलाफ कार्रवाई करने के बजाए केसीआर उनके प्रति नरम रवैया अपनाते है। इस नरम रवैये का आखिर क्या कारण है?