हैदराबाद : प्रदेश चुनाव आयुक्त नागी रेड्डी ने कहा कि पंचायत चुनाव में सरकार की अमल में लाई गई योजनाओं पर चुनाव आचार संहिता लागू नहीं होगी। मगर ग्राम पंचायतों में किसी प्रकार की नई योजनाएं लागू नहीं की जा सकती। नागी रेड्डी ने मीडिया से यह बात कही।

उन्होंने बताया कि जीएचएमसी, नगर निगम और नगर पालिका में चुनाव आचार संहिता लागू नहीं होगी। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि अब तक चुनाव आचार संहिता उल्लंघन का मामला एक भी दर्ज नहीं हुआ है। प्रदेश चुनाव आयुक्त नागी रेड्डी ने कहा कि पंचायत चुनाव में जबरन सर्वसम्मति बनाने की कोशिश की गई तो इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

नागी रेड्डी ने आगे कहा कि प्रदेश की जनता किसी के भी दबाव में नए आए और निडर होकर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करें। उन्होंने आगे बताया कि पंचायत चुनाव के खर्च को देखने वाले पर्यवेक्षकों के साथ बैठक की गई है। पंचायतराज कानून 2018 और चुनाव के आयोजन से संबंधित मुद्दों पर अधिकारियों को आवश्यक जानकारी दी गई है। साथ ही पंचायत चुनाव के दौरान उपयोग किए जाने वाले बैलेट डिब्बों का भी निरीक्षण किया गया है।

इसे भी पढ़ें:

KCR का ऐलान : तेलंगाना में अगले हफ्ते जारी होगी पंचायत चुनाव की अधिसूचना

तेलंगाना पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी, तीन चरणों में होंगे चुनाव

आयुक्त ने कहा कि यदि मतदान के दौरान कहीं पर भी रैगिंग होने पर वहां पुनर्मतदान करवाने का आदेश दिया जाएगा। साथ ही रैगिंग करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पंचायत चुनाव को सुचारू रूप से आयोजन करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए गए हैं। इसके अलावा पर्याप्त संख्या में पुलिस बंदोबस्त किया जाएगा। जरूरत के मुताबिक अतिरिक्त पुलिस बल को भी तैनात जा सकता है।

उन्होंने सरपंच वार्ड सदस्य पदों के लिए चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के खर्च का जिक्र करते हुए कहा कि वे सीमा से अधिक निधिया खर्च करने उम्मीदोवारों वालों को अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा।