करीमनगर: तेलंगाना विधानसभा का चुनावी समर का ज्वारभाटा और छह महीने तक जारी रहेगा। पंचायत के चुनावी दौर जनवरी 2019 से शुरू हो कर फरवरी के पहले सप्ताह में खत्म होगा। इसके बाद कृषि सहकार संघ, नगरपालिका, एमपीटीसी, जेडपीटीसी के चुनाव होंगे। इन चुनावों को कराने के लिए प्रशासन कमर कस रही है।

तेलंगाना विधानसभा के चुनावी नतीजों के बाद तेलंगाना राष्ट्र समिति की कार तेज गति से आगे बढ़ रही है। कांग्रेस और भाजपा अपने सहयोगी दलों के साथ आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियां कर रहे हैं। प्रत्याशियों के नामों को लेकर चर्चा का दौर शुरु हो गया है। करीमनगर और पेद्दापल्ली संसदीय निर्वाचन क्षेत्र एक ऐसा क्षेत्र है, जहां पर एक तरफा मतदान करने वाले मतदाता हैं। इस बात किस तरह का निर्णय मतदाता लेंगे, इस बात को लेकर उत्सुकता बनी हुई है।

इसे भी पढ़ें:

KCR का ऐलान : तेलंगाना में अगले हफ्ते जारी होगी पंचायत चुनाव की अधिसूचना

तेलंगाना राष्ट्र समिति के मुखिया KCR इस बार राष्ट्रीय स्तर की राजनीति में रूचि दिखा रहे हैं। इस दिशा में उन्होंने पहलकदमी शुरू कर दी है। फेडरल फ्रंट के माध्यम से राष्ट्रीय राजनीति का सपना KCR ने संजोये रखा है। इस क्रम में आगामी आम चुनाव 2019 में करीमनगर लोकसभा चुनाव क्षेत्र से KCR के चुनाव लड़ने की संभावना है। इस तरह की चर्चा वरिष्ठ नेताओं में हो रही है।