हैदराबाद: TRS और कांग्रेस नीत विपक्षी गठबंधन ने दावा किया कि तेलंगाना का जनादेश उनके पक्ष में आएगा। 119 सदस्यीय विधानसभा के लिए कल मतदान होगा। इस चुनाव में BJP और TRS अकेले-अकेले चुनाव मैदान में हैं। लोकसभा में TRS के उप नेता बी. विनोद कुमार ने कहा, "हम पूर्ण बहुमत से जीतने जा रहे हैं। लोग हमारे साथ हैं। यह एकतरफा जीत होगी। हम दो-तिहाई बहुमत से जीतेंगे।''

करीमनगर से लोकसभा के सांसद ने दावा किया कि पिछले साढ़े चार वर्षों में लोगों ने KCR के कार्यों की सराहना की है। TRS को चुनौती 'प्रजाकुटमी' (जनमोर्चा) से मिल रही है। कांग्रेस, TDP, तेलंगाना जन समिति (TJS) और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) ने मिलकर प्रजाकुटमी बनाया है। तेलंगाना के कांग्रेस प्रभारी आर सी खुंटिया ने कहा कि समूह को 80 से अधिक सीटें मिलेंगी। CPI के महासचिव एस सुधाकर रेड्डी ने इसे 'कड़ा मुकाबला' करार देते हुए कहा, "प्रजाकुटमी की जीत को लेकर हम आश्वस्त हैं।''

इसे भी पढ़ें:

तेलंगाना चुनाव 2018: बीते 3 महीनों में सियासी माहौल में बदलाव

सुधाकर रेड्डी ने कहा कि चुनाव प्रचार में काफी संख्या में लोगों के जुटने और मतदाताओं के उत्साह को देखते हुए विपक्षी दल का उत्साहवर्द्धन हुआ है। उन्होंने कहा कि समूह के सदस्यों ने अधिकतर स्थानों पर जमीनी स्तर पर एकजुट होकर काम किया। वर्ष 2014 के चुनावों में TDP के साथ गठबंधन में पांच सीटें जीतने वाली BJP ने कहा कि इससे सुनिश्चित हुआ कि तेलंगाना चुनावों में मुकाबला त्रिकोणीय है।