हैदराबाद : पूर्व सांसद लगडपाटी राजगोपाल ने किसी के दबाव में आकर चुनावी सर्वेक्षण को बदले जाने के मंत्री केटी रामाराव (केटीआर) के आरोप को सीरे खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि मैं किसी के प्रलोभन में नहीं फंसा हूं। हमारी टीम ने जो सर्वेक्षण किया है, उसी को जारी किया है। लगपाटी ने बुधवार को मीडिया के सामने कुछ और मुख्य बातों का भी खुलासा किया।

उन्होंने बताया कि मैं व्यक्तिगत रूप से केटीआर से कभी नहीं मिला हूं। इस साल 11 नवंबर को मैंने केटीआर को एक मेसेज भेजा है। मेरी टीम सर्वेक्षण कर रही है, यह बात केटीआर को मालूम है। इसी क्रम में केटीआर ने मुझसे 20 निर्वाचन क्षेत्रों में सर्वेक्षण करने का आग्रह किया था।

यह भी पढ़ें :

‘महाकूटमी’ के पक्ष में लगड़पाटी राजगोपाल की भविष्यवाणी

चंद्रबाबू के दबाव में आकर लगडपाटी ने सर्वेक्षण बदला : KTR

उन्होंने आगे कहा, "केटीआर की बात को न टालते हुए मैंने 37 निर्वाचन क्षेत्रों का सर्वेक्षण किया। इनमें अधिकतर सीटों पर कांग्रेस जीतने की बात को केटीआर को बता दी। पिछले दिनों मैंने गजवेल और सिद्दिपेट का दौरा किया था। वहां कि पुलिस ने ही मुझे बताया था कि गजवेल में उनकी (लगपाटी ने व्यक्ति का नाम बताने से इंकार किया) जीत मुश्किल है।"

आपको बता दें कि लगडपाटी ने मंगलवार को तीन और निर्दलीय उम्मीदवारों जीतने की घोषणा की थी। इसके बाद केटीआर लगपाटी के खिलाफ फायर हो गये।

केटीआर के बयान पर लगडपाटी ने कहा, "16 नवंबर को मैं हमारे एक रिश्तेदार के मकान में केटीआर से मिला था। मेरे 37 सीटों के सर्वेक्षण पर वह सहमत नहीं हुए। इसके बाद मैं कभी भी उनसे नहीं मिला। महाकूटमी के गठन से पहले हमारा टीम का सर्वेक्षण टीआरएस के अनुकूल ही था। मगर टीजेएस, सीपीआई, टीडीपी और कांग्रेस के गठबंधन के बाद हालात पूरी से बदल गये हैं। मेरा सर्वेक्षण टीआरएस के वर्तमान विधायकों को खिलाफ है, यह बात मैंने केटीआर को भी बताई है। साथ ही उम्मीदवारों को बदलने और टीडीपी के साथ गठबंधन करने का भी सुझाव दिया। मगर केटीआर ने कहा कि हमें इसकी जरूरत नहीं है।"

लगपाटी ने कहा, "मैंने केटीआर से कहा कि जग्गारेड्डी और रेवंत रेड्डी को गिरफ्तार किये जाने से आपको ही नुकसान होगा। कड़ा मुकाबला रहने पर सरकार के खिलाफ हवा बहती है। टीआरएस के दिये गये आश्वासन डबल बेडरूम और दलितों को तीन एकड़ भूमि केसीआर के खिलाफ है। आज ही आये ताजा सर्वेक्षण के अनुसार वरंगल जिला भी कांग्रेस के अनुकूल है।"