हैदराबाद : तेलंगाना विधानसभा चुनाव में नामांकन वापस लेने की प्रक्रिया गुरुवार को समाप्त हो गई। अंतिम दिन कुल 367 उम्मीदवारों ने अपना नामांकनपत्र वापस ले लिया। इसके बाद तेलंगाना विधानसभा चुनाव में 1,821 उम्मीदवार मैदान में हैं। कुल 2,653 उम्मीदवारों ने नामांक दाखिल किया था। इनमें से चुनाव आयोग ने अनेक कारणों के चलते 465 नामांकनपत्रों को खारिज किया है।

दूसरी ओर बागी उम्मीदवारों को समझाने-बुझाने में कांग्रेस आलाकमान सफल रही है। इसके चलते तेलंगाना विधानसभा चुनाव में घामासन होने की संभावना है।

तेलंगाना विधानसभा चुनाव में 25 निर्वाचन क्षेत्रों में त्रिमुखी मुकाबला होने की संभावना है। साथ ही पांच निर्वाचन क्षेत्रों में चौतरफा मुकाबला और बाकी अन्य सीटों पर कड़े टक्कर की संभावन है। अनेक सीटों पर टीआरएस और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर होगी। अनेक स्थानों पर बीजेपी के उम्मीदवार भी कड़ी टक्कर दे सकते हैं। बहुजन लेफ्ट फ्रंट (बीएलएफ) ने भी तगड़े उम्मीदवारों को मैदान में उतारी है। बीएलएफ के उम्मीदवार भी कड़ी टक्कर दे सकते हैं। ़

इसे भी पढ़ें :

गूगल से इस तरह तेलंगाना चुनाव का परिणाम पूछ रही जनता, सर्च में सबसे आगे हैं ये लोग

हैदराबाद, महूबूबनगर, खम्मम और रंगारेड्डी जिलों में बहु मुकाबला होने की संभावना है। अन्य जिलों में सीधे टक्कर होगी। हैदराबाद और रंगारेड्डी के 29 सीटों में 20 सीटों पर त्रिमुखी मुकाबला होगा।

इसे भी पढ़ें :

कोंडा विश्वेश्वर रेड्डी ने TRS की सदस्यता से दिया इस्तीफा, सोनिया गांधी के समक्ष कांग्रेस में होंगे शामिल

मतदान के पहले TRS को दो और बड़े झटके देने की कोशिश में रेवंत रेड्डी, यह कर रहे हैं दावा

आपको बता दें कि 119 तेलंगाना विधानसभा के लिए आगामी 7 दिसंबर को चुना होनी है। मतों की गिनती 11 दिसंबर होगी।