तेलंगाना विधानसभा चुनाव : सीट बंटवारे को लेकर महागठबंधन में खींचतान

डिजाइन फोटो  - Sakshi Samachar

हैदराबाद : तेलंगाना विधानसभा चुनाव में कांग्रेस, टीडीपी और सीपीआई के महागठबंधन में भी सीटों के बंटवारे को लेकर खींचतान मचती नजर आ रही है। सीटों के बंटवारे को लेकर अभी तक महागठबंधन के दलों में कोई आम सहमति नहीं बनती दिखाई दे रही है।

119 सीटों वाली तेलंगाना विधानसभा में कांग्रेस के नेता कम से कम 90 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहते हैं और 30 सीटों के करीब महागठबंधन के अन्य घटक दलों को देना चाहते हैं। वहीं, तेलुगु देशम पार्टी और टीजेएस पार्टी के द्वारा 30-30 सीटों की मांग की जा रही है, जबकि सीपीआई 11 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़ करने की फिराक में हैं।

सीटों के बंटवारे को लेकर महागठबंधन की अगली बैठक की तारीख आज सोमवार को तय होनी है। बताया जा रहा है कि नवंबर 1 से पहले दो से तीन बार महागठबंधन की बैठक होगी और इस दौरान सीटों के अंतिम रूप दे दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें :

विधानसभा चुनाव 2018 : तेलंगाना की राजनीति में एकबार फिर से जोर आजमाइश करेंगी ये महिलाएं

यह भी खबर है कि कांग्रेस पार्टी दशहरे से पहले अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करेगी, जहां सीटों को लेकर महागठबंधन के घटक दलों की तरफ से कोई आपत्ति नहीं है और इन सीटों पर अधिकांश कांग्रेस के दिग्गज नेता ही होंगे। ऐसे भी कांग्रेस का कहना है कि मौजूदा स्थिति में उनकी पार्टी काफी मजबूत स्थिति में हैं और वह अधिक से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ने में सक्षम हैं।

सीटों के बंटवारे को लेकर मुख्य रूप से ग्रेटर हैदराबाद में कांग्रेस और टीडीपी में बात बनना मुश्किल माना जा रहा है। पिछले चुनाव में टीडीपी ग्रेटर हैदराबाद में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी, जबकि कांग्रेस को एक-दो सीटों से संतोष करना पड़ा था। टीडीपी इस बार ग्रेटर हैदराबाद में चार सीटों की मांग कर रही है, लेकिन कांग्रेस नेता भी इन सीटों पर जीत का दावा कर रहे हैं।

अन्य दलों के नाराज नेताओं को भाजपा में शामिल कराने की कोशिश में जुटे हैं नेता

इस बीच, टीजेएस प्रमुख प्रो. कोदंडराम ने कहा कि महागठबंधन संयुक्त घोषणा पत्र तैयार हो जाएगा। उन्होंने बताया कि टीजेएस पहली जनसभा 14 अक्टूबर को चन्नूर में होगा, जबकि 15 अक्टूबर को मुधोल और 23 अक्टूबर को वरंगल में जनसभा करेगी।

Advertisement
Back to Top