निजामाबाद (तेलंगाना) : जिले में तेलंगाना राष्ट्र समिति में बड़ी बगावत उभरकर सामने आई है। टीआआरएस एमएलसी भूपति रेड्डी ने घोषणा कर दी है कि शीघ्र ही होने वाले चुनाव में वह टीआरएस के खिलाफ काम करेंगे। साथ ही कहा कि निजामाबाद रूरल निर्वाचन क्षेत्र के उम्मीदवार बाजिरेड्डी गोवर्धन को हर हाल में हराकर ही रहेंगे।

भूपति रेड्डी ने बुधवार को मीडिया से आगे कहा कि शीघ्र ही वाले चुनाव में वह जरूर चुनाव लड़ेंगे, मगर टीआरएस के टिकट पर नहीं। हो सके तो वह निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनावी जंग में उतरेंगे। किस पार्टी से चुनाव लड़ेंगे इस बारे में बाद में बता दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें:

बाल्का सुमन के खिलाफ लगे ‘गौ बैक’ के नारे, युवकों ने लगा ली आग, तीन की हालत गंभीर

तेलंगाना विस चुनाव के लिए  YSRCP करेगी मंथन, बैठक में भाग लेंगे जिलों के ये बड़े नेता

उन्होंने कहा कि टीआरएस में शामिल हुए इतर पार्टी के विधायक और एमएलसी इस्तीफा देते है तो वह भी इसी वक्त इस्तीफा देने को तैयार है। यदि कोई नेता इस्तीफा नहीं देता है तो वह भी इस्तीफा नहीं देगे।

भूपति रेड्डी ने सवाल किया कि टीआरआर किस आधार पर पहले चुनाव कराने जा रही है? उन्होंने यह भी चेतावनी दी है कि टीआरएस का पतन निजामाबाद से ही शुरू होगा।

उन्होंने बताया कि टीआरएस मंत्रिमंडल में 70 प्रतिशत नेता केसीआर को गाली देने वाले हैं। तेलंगाना आंदोलन के द्रोहियों को केसीआर ने सर आंखों पर बिठा लिया है।

उन्होंने यह भी कहा कि तेलंगाना आंदोलनकारियों को केसीआर एक योजनाबद्ध तरीके से बाहर करते जा रहे है। उन्होंने कहा कि जो नेता केसीआर की बात नहीं सुनते है, उसे तेलंगाना द्रोही बताया जा रहा है। तेलंगाना जल, निधि और नौकरियों के लिए हासिल किया गया। मगर आज तेलंगाना के लोगों को ये नशीब नहीं हो रहा है।

भूपति रेड्डी ने कहा कि तेलंगाना विरोधी जब 2 जून को शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते है तो मुझे बहुत दुख होता है। उन्होंने यह भी कहा कि केसीआर ने एक भी शहीद परिवार को अबतक मुआवजा नहीं दिया है।

एमएलसी ने दुख के साथ कहा कि शहीद, छात्र, बुद्धिजीवी, कलाकार और तेलंगाना लोगों ने जिस लक्ष्य के लिए तेलंगाना हासिल किया है वह लक्ष्य अब भी पूरा नहीं हुआ है।