हैदराबाद : भारतीय जनता पार्टी तेलंगाना में टीआरएस व कांग्रेस विरोधी पार्टियों, दलों व संगठनों के साथ मिलकर चुनाव लडेगी। पार्टी विधायक दल के नेता जी. किशन रेड्डी ने बताया कि पार्टी द्वारा 17 सितंबर को तेलंगाना मुक्ति दिवस मनाया जाएगा। साथ ही पालमुरू (महबूबनगर) जिले में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह चुनावी बिगुल बजाएंगे।

टीआरएस प्रमुख द्वारा भाजपा को सांप्रदायिक पार्टी बताए जाने पर आपत्ति व्यक्त करते हुए किशन रेड्डी ने कहा कि केसीआर को यह भी बताना होगा कि उनकी दोस्त पार्टी एमआईएम कौन सी पार्टी है। उन्होंने कहा कि देश का हर नागरिक जानता है कि एमआईएम कैसी धर्मनिरपेक्ष पार्टी है।

इसे भी पढ़ें :

तेलंगाना सहित पांच राज्यों में एक साथ होंगे चुनाव, मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने दिये संकेत

एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि उनकी पार्टी मुसलमानों को 14 प्रतिशत आरक्षण के खिलाफ है। 8 और 9 सितंबर को दिल्ली में पार्टी की कार्यकारिणी की बैठक होने,जिसमें सभी भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भाग लेने की जानकारी देते हुए किशन रेड्डी ने बताया कि बैठक में तेलंगाना विधानसभा चुनाव को लेकर विस्तृत चर्चा होगी।

केसीआर द्वारा भाजपा को गरीब पार्टी बताए जाने का जिक्र करते हुए कहा कि ये सच है कि भाजपा एक गरीब पार्टी है और वह गरीबों के उत्थान के लिए काम करती है। उन्होंने बताया कि इस बार इस बार पार्टी नए उम्मीदवारों को टिकट देगी।

केसीआर द्वारा टीआरएस को धर्मनिर्पेक्ष पार्टी बताए जाने पर कड़ी आपत्ति व्यक्त करते हुए भाजपा नेता ने सवाल किया कि टीआरएस यदि वास्तव में सेक्युलर पार्टी है तो उसने उसके द्वारा घोषित 105 उम्मीदवारों में केवल दो मुसलमान उम्मीदवार है।

इसे भी पढ़ें :

KCR ने हुस्नाबाद में फूंका चुनावी बिगुल, कहा- 100 से अधिक सीटें जीत कर बनाएगी सरकार

यह पूछे जाने पर क्या आप इस बार लोकसभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं, जवाब में उन्होंने कहा कि फिलहाल इस बारे में कुछ भी कहने का सही वक्त नहीं है और समय आने पर जरूर बताया जाएगा।

जी. किशन रेड्डी ने केसीआर सरकार पर डबल बेडरूम मकान, बेरोजगार युवकों को रोजगार, केजी से पीजी तक मुफ्त शिक्षा, हैदराबाद में गरीबों के लिए एक लाख मकान बनाकर देने का आश्वासन पूरा करने में पूरी तरह से विफल होने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि टीआरएस और कांग्रेस पार्टी झूठे आश्वासनों से लोगों को गुमराह करने का प्रयास कर रही हैं।