हैदराबाद : तेलंगाना के IT मंत्री के. तारक रामाराव (केटीआर) ने दावा किया है कि तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) द्वारा आगामी 2 सितंबर को आयोजित की जा रही 'प्रगति निवेदना सभा' देश की सबसे बड़ी सभा होगी। ऐसी सभा देश में किसी भी राजनीतिक दल के द्वारा अब तक नहीं किया गया। टीआरएस का यह सबसे बड़ा आयोजन साबित होने जा रहा है, जिसमें लगभग 25 लाख लोग शामिल होने वाले हैं।

मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय पर गेस्ट हाउस में पत्रकारों से वार्ता में केटीआर ने बताया कि तेलंगाना राष्ट्र समिति इस आयोजन को चुनाव की तैयारी के रूप में देख रही हैं, जिसमें सरकार के 4 साल के रिपोर्ट कार्ड को जनता के सामने रखा जाएगा।

इसे भी पढ़ें:

सरकार की ‘प्रगति निवेदना सभा’ के लिए रूट मैप तैयार, पुलिस का भारी बंदोबस्त

TRS की हार बताने का एक सबूत है ‘प्रगति निवेदना सभा’ : अरुणा

केटीआर ने दावा किया कि टीआरएस एक रीजनल ऐसी पार्टी है, जिसके पास 46 लाख से अधिक पार्टी के रजिस्टर्ड वर्कर हैं और उन सभी का पार्टी ने बीमा करा रखा है और उम्मीद जताई जा रही है कि इस आयोजन में कम से कम आधे पार्टी कार्यकर्ता शामिल होंगे।

इसे भी पढ़ें:

TRS की ‘प्रगति निवेदना सभा’ के आयोजन को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर

हाई कोर्ट ने ‘प्रगति निवेदना सभा’ पर रोक लगाने से किया इंकार, याचिका खारिज

केटीआर ने कहा कि आयोजन 2000 एकड़ में किया जा रहा है, जिसमें 500 एकड़ में पब्लिक मीटिंग और 1500 एकड़ में अन्य सुविधाओं की तैयार की जाएगी। इस आयोजन में आसानी से लोगों को पहुंचने के लिए 16 नई सड़कें बनाई जा रही हैं। आने वालों की सुविधा के लिये पर 500 वॉशरूम बनाए जा रहे हैं। साथ ही लोगों की देखभाल व अन्य किसी इमरजेंसी के लिए स्पेशल मेडिकल कैंप भी स्थापित किये जा रहे हैं।

सभा स्थल का रोड मैप
सभा स्थल का रोड मैप

इसलिए चुना रविवार

केटीआर ने आगे कहा कि आयोजन के लिए रविवार का दिन इसलिए चुना है कि यह एक अवकाश का दिन होता है। पार्टी चाह रही थी कि इसमें किसी को कोई नुकसान न हो और छात्र, कर्मचारी, किसान, मजदूर व पार्टी के वह तमाम कार्यकर्ता भी इस सभा में ज्यादा से ज्यादा की संख्या में शिरकत कर सकें।

यह है दावा

मंत्री ने दावा किया कि यहां पर 10,000 ट्रैक्टर से किसान खुद आएंगे और उम्मीद जताई जा रही है कि एक ट्रैक्टर पर कम से कम 10 लोग जरूर आएंगे। रविवार को हो रहे आयोजन में लगभग 1 लाख लोग एक दिन पहले यानी शनिवार तक आयोजन स्थल पर पहुंच जाएंगे। इसके अलावा टीआरएस के कार्यकर्ताओं को आयोजन स्थल पर ले जाने के लिए लगभग 7300 आरटीसी बसें भी बुक की गई हैं।

कोर्ट के आदेश का होगा पालन

टीआरएस नेता ने कहा कि इस आयोजन में पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा हाईकोर्ट के दिए आदेश का पालन किया जाएगा। मंत्री ने कहा कि पार्टी ने कोर्ट को बता दिया है कि सभा के कारण जनता को कोई परेशानी ना होगी और ना ही किसी प्रकार की इमरजेंसी सेवाएं बाधित होगी। पार्टी ने लोगों से भी आग्रह किया है कि सभ में भाग लेने के लिए वालों को किसी प्रकार की बाधाएँ ना पैदा करें।