अबकी बार ओवैसी को हराने के लिए मैदान में आ सकता है भाजपा का यह कट्टर नेता 

असदुद्दीन ओवैसी ( फाइल फोटो)  - Sakshi Samachar

हैदराबाद : 2019 के लोकसभा चुनाव में हैदराबाद से अपने उम्मीदवार को लेकर जहां भारतीय जनता पार्टी में चर्चा छिड़ी हुई है, वहीं नगर के लोगों में उत्सुकता बनी हुई है। हैदराबाद से लगातार तीन बार जीत दर्ज करने वाले एमआईएम के अध्यक्ष व सांसद असदुद्दीन ओवौसी को कड़ी टक्कर देने के इरादे से भाजपा अपने उम्मीदवार की तलाश कर रही है।

इससे पहले भाजपा ने हैदराबाद से वरिष्ठ नेता व वर्तमान उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, पार्टी के वरिष्ठ नेता बद्दम बालरेड्डी तथा सुभाषचंद्रजी को ओवैसी के खिलाफ चुनाव लड़ाया था।

सूत्रों की मानें तो पार्टी इस बार निर्वाचन क्षेत्र के सभी हिन्दू मतदाताओं के वोट बटोरने की योजना बना रही है और इसी के तहत ओवैसी के खिलाफ आग उगलते हुए मीडिया में छाए रहने वाले गोशामहल से विधायक राजा सिंह के नाम पर विचार कर रही है।

बताया जाता है कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने अपने हाल के तेलंगाना दौरे के दौरान राजा सिंह को अपाइंटमेंट दिया था। यह भी खबर है कि अमित शाह ने राजा सिंह को ओवैसी के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरने को तैयार रहने के संकेत भी दिए हैं और राजा सिंह भी पार्टी के आदेश पालन करने और ओवैसी के खिलाफ चुनाव लड़ने को लेकर सहमत है।

इसे भी पढ़ें :

मिशन 2019 के लिए ग्रहण के दिन हिन्दुत्व को धार देने संगम नगरी पहुंच रहे हैं शाह

गौरतलब है कि ओवैसी अकसर भाजपा के नेताओं को हैदराबाद लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से उन्हें (ओवैसी) हराने की चुनौती देते रहे हैं और हाल ही में उन्होंने सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हैदराबाद से उनके खिलाफ चुनाव जीतकर दिखाने की खुली चुनौती दे डाली।

भाजपा के लिए आसान नहीं....

हैदराबाद निर्वाचन क्षेत्र से एमआईएम सांसद ओवैसी को हराना सिर्फ भाजपा को नहीं बल्कि किसी अन्य दल के लिये भी आसान नहीं है। इस निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले अधिकांश निर्वाचन क्षेत्रों में एमआईएम के विधायक हैं। हर बार चुनाव में यहां मुस्लिम मतदाता यह सोचकर एकतरफा वोट देते हैं कि यही ओवैसी बंधु ही हैं जो मुसलमानों की आवाज न केवल राज्य विधानसभा बल्कि संसद में जोरदार तरीके से उठाते हैं।

इसके अलावा राज्य में एमआईएम टीआरएस का सहयोगी दल है और उसे टीआरएस का पर्याप्त समर्थन प्राप्त है। ऐसे में मुस्लिम वोटों को अपना हथियार बनाकर चुनाव जीत रहे में ओवैसी के इस वोट बैंक में सेंध लगाना और उन्हें हराना भाजपा के कतई आसान नहीं है।

अगले चुनाव में स्थिति कैसी बनेगी यह भी मायने रखता है। क्या टीआरएस एमआईएम के साथ अपनी दोस्ती बरकरार रखेगी या अपने दम पर चुनाव लड़ेगी। क्योंकि हैदराबाद नगर निगम में दोनों पार्टी सत्ता में। इसके अतिरिक्त क्या कांग्रेस और टीडीपी अपने उम्मीदवार चुनाव में उतारेंगे या नहीं, इसपर भी भाजपा की नजरें टिकी रहेंगी।

भाजपा की अगर मानें तो हैदराबाद लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में हिन्दूओं की संख्या भी काफी अच्छी है और अगर उन्हें भाजपा के समर्थन में एकजुट बना लिए जाए तो ओवैसी को हराना उतना मुश्किल नहीं है, जितना की ओवैसी बार-बार दावे करते रहे हैं।

इसे भी पढ़ें :

अब नगर की तंग गलियों में भी लोग रहेंगे महफूज, इस खास साइकिल से गश्त देगी पुलिस

भाजपा तेलंगाना में मिशन 80 के तहत काम कर रही है। राज्य की कुल 119 विधानसभा सीटों में से 80 सीटें और लोकसभा की 17 में से 15 सीटों पर जीत दर्ज करने के इरादे से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह प्लान बना रहे हैं।

क्या हैदराबाद भाजपा के लिये बन पाएगा यूपी का देवबंध ?

भाजपा सूत्रों की अगर माने, तो पार्टी हैदराबाद में असुदुद्दीन ओवैसी विरोधी लहर पर काम कर रही है। पार्टी का कहना है कि ओवैसी के लिए चुनावी गढ़ साबित हो रहे हैदराबाद के मुसलमानों के पास दूसरा विकल्प नहीं है। अगर यहां के मतदाताओं को एक बेहतर विकल्प मिल जाएगा तो हैदराबाद लोकसभा सीट के दायरे में आने वाली सभी सातों विधानसभा सीटों पर पार्टी की जीत आसान हो जाएगी।

भाजपा का कहना है कि देवबंद में पार्टी ने कोई ऐसा खास काम नहीं किया था, इसके बाद भी उसे वहां एक अच्छा विकल्प मिला और पार्टी जीत गई। यही नहीं, उत्तर प्रदेश के अधिकांश मुस्लिम बहुल निर्वाचन क्षेत्रों में भाजपा ने बगैर मुस्लिम उम्मीदवार के चुनाव जीते हैं। अब वही यहां हैदराबाद में होने जा रहा है। भाजपा हैदराबाद में ओवैसी के खिलाफ एक शक्तिशाली विकल्प बनकर उभरेगी और सभी सातों निर्वाचन क्षेत्रों के मतदाता इस बात को समझेंगे और पार्टी को जरूर वोट देंगे।

कौन हैं राजा सिंह ?

राजा सिंह ( फाइल फोटो)

हैदराबाद के गोशामहल निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा के विधायक टी. राजा सिंह की छवि कट्टर हिन्दूवादी नेता के रूप में है। भारतीय जनता पार्टी के गौरक्षक सेवा संघ के संयोजक रहे राजा सिंह हैदराबाद में हिन्दुओं को संगठित करने के उद्देश्य से हर वर्ष श्रीरामनवमी पर एक विशाल रैली का आयोजन करते हैं। इसके अलावा रानी अवंति बाई की शोभायात्रा भी उनके नेतृत्व में निकाली जाती है।

इसे भी पढ़ें :

राम मंदिर का विरोध करने वालों का काट डालेंगे सिर: BJP MLA राजा सिंह का भड़काऊ बयान

समाज विरोधी ताकतों के खिलाफ संघर्ष करते हुए हिन्दुओं को एक मंच पर लाने की कोशिश में लगे रहने वाले राजा सिंह के खिलाफ हेट स्पीच के मामले भी दर्ज हैं। यही नहीं, उनके खिलाफ ड्यूटी पर तैनात एक कांस्टेबल के साथ मारपीट का मामला भी दर्ज है। विधायक बनने से पहले राजा सिंह नगर के मंगलहाट से कार्पोरेटर थे।

इसे भी पढ़ें :

भाजपा MLA राजा सिंह ने दोहराई ‘पुराना हैदराबाद मिनी पाकिस्तान का अड्डा’ वाली बात, पुलिस कसेगी शिंकजा

Advertisement
Back to Top