नई दिल्ली : भारत में स्थानीय भाषाओं में वीडियो स्ट्रीमिंग की बढ़ती लोकप्रियता के कारण विभिन्न ओवर-द-एप (ओटीटी) एप्लिकेशंस में साल 2018 में मोबाइल डेटा के ट्रैफिक में 109 फीसदी की तेजी दर्ज की गई, जिसमें 4जी का सबसे अधिक 92 फीसदी योगदान रहा।

नोकिया के सालाना मोबाइल ब्राडबैंड इंडिया ट्रैफिक (एमबीआईटी) सूचकांक में गुरुवार को यह जानकारी दी गई।

भारत में मोबाइल ब्रांडबैंक प्रदर्शन की इस रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि साल 2018 में औसत डेटा इस्तेमाल में 69 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई, जोकि दिसंबर में प्रति यूजर्स 10 जीबी प्रति माह रही।

डेटा टैरिफ में महत्वपूर्ण कमी के साथ ही किफायती 4जी सक्षम डिवाइसों की उपलब्धता ने 4जी ग्राहकों की संख्या में 137 फीसदी की बढ़ोतरी की। अब देश में 4जी डेटा प्रयोग करने वालों की संख्या 43.2 करोड़ है।

ये भी पढ़ें: एयरटेल ने अंडमान एवं निकोबार में शुरू की अपनी 4G सेवाएं

नोकिया के भारतीय बाजार के प्रमुक संजय मलिक ने कहा, "अगले कुछ सालों तक ब्राडबैंड उपभोग में उछाल जारी रहेगी, क्योंकि ब्राडबैंड की वर्तमान पहुंच केवल 45 फीसदी लोगों तक ही है।"

उन्होंने कहा, "आगे, सेवा प्रदाताओं को अपने 4जी नेटवर्क का विस्तार करने और निकट भविष्य में अपने नेटवर्क को 5जी सक्षम बनाने की जरूरत है।"