इस धुंआधार खिलाड़ी में दिखा ‘युवराज’, कई छक्कों व चौकों से बनाया दोहरा शतक

युवराज चौधरी ( हाथ में बैट लिए हुए) ने मणिपुर के खिलाफ दोहरा शतक लगाया है। - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : खड़गपुर में खेले जा रहे कर्नल सीके नायडू ट्रॉफी मैच में चंडीगढ़ ने युवराज चौधरी के शानदार दोहरे शतक की बदौलत मजबूत स्थिति में पहुंच चुका है। युवराज की आतिशी पारी की बदौलत चंडीगढ़ ने मणिपुर के खिलाफ 674 रनों का विशाल स्कोर बनाया। उन्होंने मणिपुर के खिलाफ महज 215 गेंदों में 230 रनों की पारी खेली। अपनी इस शानदार पारी में उन्होंने 22 बाउंड्री लगाई। इसमें 8 छ्क्के और 14 चौके शामिल है।

कौन है युवराज चौधरी

महज 18 साल की उम्र के युवराज चौधरी चंडीगढ़ की ओर से खेलते हैं। उनका ज्यादातर बचपन उत्तराखंड के रूड़की में बीता है। उनके पिता पेशे से किसान हैं। वे शुरू से ही क्रिकेटर बनना चाहते थे और उनकी यही चाहत उन्हें चंडीगढ़ खींच ले आई और गुरसागर क्रिकेट एकेडमी में ट्रेनिंग लेने लगे। वे टीम इंडिया के पूर्व बैट्समैन युवराज सिंह की तरह ही लंबे- लंबे शॉट खेलने में माहिर हैं इसीलिए उन्हें चंडीगढ़ का युवराज भी कहा जाता है

बता दें कि मणिपुर ने अपनी पहली पारी में महज 94 रन पर ढेर हो गई थी। चंडीगढ़ ने अपने बीते दिन के स्कोर दो विकेट के नुकसान पर 212 रन से आगे खेलना शुरू किया और 303 रनों तक उसके 6 विकेट गिर गए। इसके बाद युवराज चौधरी और तरनप्रीत सिंह ने पारी को संभालते हुए 7वें विकेट के लिए 50 रनों की पार्टनरशिप की। इसके बाद चौधरी ने अक्षित राणा के साथ 8वें विकेट के शतकीय पार्टनरशिप की। 8वें विकेट के लिए दोनों ने 124 की पार्टनरशिप की। अक्षित राणा ने 53 रनों का योगदान दिया।

इसके बाद भी युवराज चौधरी मैदान पर डटे रहे और उन्होंने 9वें विकेट के लिए हर्षित के साथ 188 रनों की साझेदारी की। चौधरी 230 रन के निजी स्कोर पर स्टंप आउट हो गए। चौधरी जब आउट हुए तो उस वक्त टीम का स्कोर 665 था तो गेंदबाज किशन ने युवराज को आउट किया। फिर किशन ने 133वें ओवर में निपुण पंडिता को 6 रन पर आउट कर अपना छठवां शिकार बनाया। इससे पूरी टीम 674 रन पर आउट हो गई।

Advertisement
Back to Top