जोहान्सबर्ग अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने फैन के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करने के मामले में इंग्लैंड के हरफनमौला खिलाड़ी बेन स्टोक्स पर मैच फीस का 15 प्रतिशत जुर्माना लगा दिया है।

स्टोक्स ने यहां दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले जा रहे चौथे और अंतिम टेस्ट मैच के पहले दिन शुक्रवार को आउट होने के बाद एक फैन के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया था। उनके इस अभद्र भाषा की आवाज को प्रसारणकर्ता ने रिकॉर्ड कर लिया था और उसने उसे बाद में सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया था।

आईसीसी ने स्टोक्स को आचार संहिता के 2-3 के अनुच्छेद का उल्लंघन करने का दोषी पाया और उनके खाते में एक डिमेरिट अंक भी जोड़ दिया। पिछले 24 महीने के दौरान स्टोक्स का पहला अपराध था।

मैदानी अंपायर ब्रुस ऑक्सनफॉर्ड और जोएल विल्सन ने स्टोक्स के ऊपर यह आरोप लगाया था। स्टोक्स अपने ऊपर लगे अपराध और जुर्माने को स्वीकार कर लिया है, इसलिए अब उनके खिलाफ औपचारिक कार्रवाई की जरूरत नहीं है।

सोशल मीडिया पर मांगी माफी

स्टोक्स ने बाद में अपने इस बर्ताव के लिए सोशल मीडिया पर माफी मांग ली है थी। स्टोक्स ने ट्विटर पर लिखा, "मैंने आउट होने के बाद जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया, वह लाइव ब्रॉडकास्ट पर सबने सुना। मैं अपनी उस भाषा के लिए माफी मांगता हूं। जब मैं आउट होकर पवेलियन की तरफ जा रहा था, तब दर्शकों की तरफ से मुझे लगातार अभद्र भाषा के साथ निशाना बनाया जा रहा था।"

उन्होंने आगे लिखा, "मैं मानता हूं कि मैंने जिस तरह बर्ताव किया, वह गैर पेशेवर था और मैं इसके लिए दिल से माफी मांगता हूं। मैं अपनी भाषा के लिए खासकर दुनिया भर के युवा फैन्स से माफी मांगता हूं, जोकि सीधा प्रसारण देख रहे थे।"

हरफनमौला खिलाड़ी ने साथ ही कहा, "पूरी टेस्ट सीरीज के दौरान अबतक दोनों ही तरफ (इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका) के फैन्स से शानदार सपोर्ट मिला है। इस एक घटना की वजह से इस सीरीज को खराब नहीं होना चाहिए, जिसे हम जीतने के लिए तत्पर हैं।"

स्टोक्स अपनी पारी के दौरान केवल दो रन पर ही आउट हो गए थे।