नई दिल्ली : मनीष पांडे (नाबाद 69) की सूझबूझ भरी तेज तर्रार पारी से कोलकाता नाइटराइडर्स ने आज यहां फिरोजशाह कोटला मैदान पर अंतिम ओवर में रोमांच की पराकाष्ठा तक पहुंचे इंडियन प्रीमियर लीग मैच में दिल्ली डेयरडेविल्स को एक गेंद शेष रहते चार विकेट से हराकर लगातार तीसरी जीत दर्ज की।

घरेलू टीम ने सलामी बल्लेबाज संजू सैमसन की शुरु में खेली गयी 39 रन और ऋषभ पंत की अंत में चार छक्कों से सजी 38 रन की पारी से सात विकेट गंवाकर 168 रन बनाये।

इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता नाइटराइडर्स ने 19.5 ओवर में छह विकेट पर 169 रन बनाकर जीत दर्ज की। पांडे के अलावा यूसुफ पठान ने 59 रन की पारी खेलकर फार्म में वापसी की। केकेआर इस तरह पांच मैच में चार जीत से आठ अंक लेकर शीर्ष पर पहुंच गयी जबकि दिल्ली चार मैचों में दो जीत से चार अंक लेकर तीसरे स्थान पर है।

अंतिम ओवर में केकेआर को जीत के लिये नौ रन की दरकार थी, अमित मिश्रा के ओवर की पहली गेंद में कोई रन नहीं बना, दूसरी गेंद पर क्रिस वोक्स (03) आउट हुए, तीसरी में एक रन बना, चौथी गेंद में पांडे ने छक्का लगाया, पांचवीं गेंद में दो रन बनाकर टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया।

कोलकाता की टीम ने पहले तीन ओवराें में तीन विकेट क्रमश: कोलिन डि ग्रैंडहोम, रोबिन उथप्पा और कप्तान गौतम गंभीर (14) के रुप में गंवाकर खराब शुरुआत की। दिल्ली के कप्तान जहीर खान (28 रन देकर दो विकेट) ने पहले और दूसरे ओवर में ग्रैंडहोम और गंभीर के विकेट झटके।

यूसुफ पठान और मनीष पांडे ने मिलकर चौथे विकेट के लिये 110 रन की भागीदारी निभायी। इसी दौरान पांडे ने आईपीएल में अपने 2000 रन भी पूरे किये। वहीं पठान ने 14वें ओवर में जहीर की नीची फुल टास गेंद पर छक्का लगाकर 34 गेंद में पांच चौके और दो छक्के से अपना अर्धशतक पूरा किया।

इसी ओवर में इन दोनों ने शतकीय साझेदारी भी पूरी की। आईपीएल में यह पहली बार है जब किसी टीम ने 25 रन के अंदर तीन विकेट खोने के बाद चौथे विकेट के लिये शतकीय भागीदारी निभायी हो। लेकिन यह साझेदारी अगले ही ओवर में टूट गयी, जब क्रिस मौरिस (30 रन देकर एक विकेट) के दूसरे ओवर में पठान ने शार्ट गेंद को उंचा उठा दिया और इस गेंदबाज ने इसे लपककर घरेलू टीम को अहम सफलता दिलायी।

पांडे ने भी 37 गेंद में चार चौके और दो छक्के से 50 रन पूरे किये, उन्होंने इस तरह अपनी पारी में 49 गेंद में चार चौके और तीन छक्के जमाये।

इससे पहले पंत ने दिल्ली को इस स्कोर तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभायी, उन्होंने इस पारी के लिये महज 16 गेंद का सामना किया जिसमें दो चौके और चार छक्के जड़े थे। उन्होंने ही दिल्ली के लिये पहला छक्का जड़ा और पारी के चारों छक्के उनके नाम रहे। क्रिस मौरिस ने हमेशा की तरह अंत में उपयोगी योगदान देते हुए तीन चौके से नौ गेंद में 14 रन जोड़े। कोलकाता नाइटराडर्स के लिये नाथन कूल्टर नाइल सबसे सफल गेंदबाज रहे, जिन्होंने 22 रन देकर तीन विकेट झटके। क्रिस वोक्स, उमेश यादव और सुनील नारायण को एक-एक विकेट मिला।

टास जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी दिल्ली डेयरडेविल्स के सलामी बल्लेबाज सैम बिलिंग्स और इस सत्र का पहला शतक जड़ने वाले सैमसन (25 गेंद में सात चौके) ने अच्छी शुरुआत की। सैमसन नेे पहले ओवर में दो चौके जमाकर अपने इरादे दिखाये। सैमसन जहां आक्रामक रहे तो बिलिंग्स सहजता से उनका साथ निभाते रहे।

यह भी पढ़े :

IPL : पुणे ने बेंगलुरू को 27 रनों से हराया

राना, रोहित व पोलार्ड की पारी से मुंबई इंडियंस ने गुजरात लायंस को 6 विकेट से हराया

सैमसन ने पारी के तीसरे ओवर में उमेश यादव की गेंदों को धुनते हुए चार चौकों से इस ओवर में टीम को 17 रन दिलाये। हालांकि इसी गेंदबाज ने उनकी पारी का अंत किया।

नाथन कूल्टर नाइल ने सातवें ओवर की पहली गेंद में बिलिंग्स (21 रन) को आउट कर इस 53 रन की साझेदारी को तोड़ा, जब विकेटकीपर रोबिन उथप्पा ने उनका कैच लपका। स्कोर में दस रन जुड़ने के बाद सैमसन भी चलते बने, वह उमेश की गेंद पर बल्ला भिड़ाकर विकेटकीपर को कैच दे बैठे। इसके बाद करुण नायर (21) और श्रेयस अय्यर (26) ने जिम्मेदारी से खेल रहे थे, लेकिन अय्यर रन आउट हो गये।

नायर भी अगले ही ओवर में पवेलियन लौट गये। इसके बाद पंत ने टीम को चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभायी। उन्होंने पारी का पहला छक्का कुलदीप यादव पर 16वें ओवर में लगाया। इसके बाद उन्होंने अगले ओवर में उमेश यादव को धुनते हुए तीन छक्के लगाये जिसमें 26 रन बने। मोहम्मद शमी को शाहबाज नदीम की जगह उतारा गया, जबकी कोरी एंडरसन के बीमार होने के कारण एंजेलो मैथ्यूज को अंतिम एकादश में शामिल किया गया।