नई दिल्ली: चंद्रयान-२ को लेकर भारत में लोग उत्साहित है। देश की इस उपलब्धि पर लोग वैज्ञानिकों को शाबाशी भी दे रहे हैं। वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जो सोशल मीडिया पर चंद्रयान -२ से जुड़ी भ्रामक खबरें प्रसारित कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें:

दुनिया में बजा भारत का डंका, चंद्रयान-2 ले जाने वाले GSLV-MK 3  का सफल प्रक्षेपण

सोशल मीडिया पर फेक तस्वीरें जिसके Chandrayaan-2 से लिए जाने का दावा किया जा रहा है
सोशल मीडिया पर फेक तस्वीरें जिसके Chandrayaan-2 से लिए जाने का दावा किया जा रहा है

दरअसल सोशल मीडिया पर कुछ ऐसी तस्वीरें साझा की जा रही हैं। जिनके चंद्रयान -२ से ली गई होने का दावा किया जा रहा है। साक्षी समाचार ने इन तस्वीरों की सच्चाई का पता किया। दरअसल सोशल मीडिया पर साझा की जा रही तस्वीरें Chandrayaan-2 से नहीं ली गई हैं।

सोशल मीडिया पर फेक तस्वीरें जिसके Chandrayaan-2 से लिए जाने का दावा किया जा रहा है
सोशल मीडिया पर फेक तस्वीरें जिसके Chandrayaan-2 से लिए जाने का दावा किया जा रहा है

22 जुलाई 2019 को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी ISRO ने Chandrayaan-2 का सफल प्रक्षेपण किया था। जो तस्वीरें वायरल की जा रही हैं वो सालों पुरानी हैं।

सोशल मीडिया पर फेक तस्वीरें जिसके Chandrayaan-2 से लिए जाने का दावा किया जा रहा है
सोशल मीडिया पर फेक तस्वीरें जिसके Chandrayaan-2 से लिए जाने का दावा किया जा रहा है

Chandrayaan-2 अपने मिशन पर धरती की तस्वीरें नहीं लेने गया है। बल्कि इस मिशन के तहत Chandrayaan-2 को चांद के दक्षिणी उतरार्द्ध में लैंड करना है। वहां इस यान में लगे यंत्रों से कई जानकारियां इकट्ठा की जाएंगी।

सोशल मीडिया पर फेक तस्वीरें जिसके Chandrayaan-2 से लिए जाने का दावा किया जा रहा है
सोशल मीडिया पर फेक तस्वीरें जिसके Chandrayaan-2 से लिए जाने का दावा किया जा रहा है