Sun Jun 16, 2019 Telugu English E-Paper Education
ब्रेकिंग न्यूज़
World Cup 2019: विराट कोहली का वर्ल्ड रिकॉर्ड, बने 11 हजारी
World Cup 2019: रोहित शर्मा ने खेली शानदार पारी, जड़े 140 रन 
World Cup 2019 : टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली का अर्धशतक  
पीएम मोदी ने ‘मन की बात’ के लिए इंस्टाग्राम पर पहली बार मांगे सुझाव
ओडिशा के नक्सल प्रभावित इलाकों में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने किया योगा

रियल्टी

बिल्डर्स व घर खरीदने वालों के लिए शानदार रहे पिछले कुछ महीने, इन शहरों में दिखा बूम
रियल्टी

बिल्डर्स व घर खरीदने वालों के लिए शानदार रहे पिछले कुछ महीने, इन शहरों में दिखा बूम

साल 2019 की जनवरी-मार्च तिमाही में आवासीय अपार्टमेंट्स की बिक्री में तिमाही-दर-तिमाही आधार पर तीन फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है और इस अवधि में देश के सात प्रमुख शहरों में कुल 33,000 घरों की बिक्री दर्ज की गई। रियल एस्टेट सर्विसिस और निवेश कंपनी सीबीआरई की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है।

 जेपी इंफ्रा के लिए अडाणी समूह की गैर-बाध्यकारी बोली; आवास परियोजनाओं के लिए देगी 1,700 करोड़ रुपये
रियल्टी

जेपी इंफ्रा के लिए अडाणी समूह की गैर-बाध्यकारी बोली; आवास परियोजनाओं के लिए देगी 1,700 करोड़ रुपये

अडाणी समूह ने कर्ज संकट से दबी जेपी इंफ्राटेक के अधिग्रहण के लिए स्वैच्छिक रूप से गैर - बाध्यकारी बोली लगाई है। साथ ही अडाणी समूह फंसी हुई आवासीय परियोजनाओं के निर्माण में तेजी लाने के लिए 1,700 करोड़ रुपये की पूंजी डालने के लिए भी तैयार है। सूत्रों ने यह जानकारी दी है।

 360 रीयल्टर्स ने किया रिसा रीयल्टी का अधिग्रहण, 750 करोड़ रुपये की बिक्री का लक्ष्य  
रियल्टी

360 रीयल्टर्स ने किया रिसा रीयल्टी का अधिग्रहण, 750 करोड़ रुपये की बिक्री का लक्ष्य  

रीयल एस्टेट ब्रोकरेज से जुड़ी कंपनी 360 रीयल्टर्स ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसने अमेरिकी कंपनी रिसा रीयल्टी का अधिग्रहण कर लिया है। इस कंपनी के जरिए वह अमेरिका में भारतीय संपत्तियों की बिक्री करेगी। उसने चालू वित्त वर्ष में 750 करोड़ रुपये की कुल बिक्री का लक्ष्य रखा है।

 ..अब घर खरीदना बहुत आसान, आवास मंत्रालय ने दी ये बड़ी सौगात  
रियल्टी

..अब घर खरीदना बहुत आसान, आवास मंत्रालय ने दी ये बड़ी सौगात  

केंद्र सरकार की ऋण से संबद्ध सब्सिडी योजना के तहत मार्च महीने तक घर खरीदारों को 12 हजार करोड़ रुपये से अधिक की सब्सिडी वितरित की गयी है।

 इंडियाबुल्स रीयल एस्सेट 1,800 करोड़ रुपये में लंदन की संपत्ति प्रवर्तकों को बेचेगी  
रियल्टी

इंडियाबुल्स रीयल एस्सेट 1,800 करोड़ रुपये में लंदन की संपत्ति प्रवर्तकों को बेचेगी  

इंडियाबुल्स रीयल एस्टेट लंदन में अपनी संपत्ति को अपने प्रवर्तकों को 20 करोड़ ब्रिटिश पौंड (करीब 1,800 करोड़ रुपये) में बेचेगी। कंपनी ने भारत में कारोबार पर ध्यान देने और कर्ज में कटौती की रणनीति के तहत यह कदम उठाया है। वित्त वर्ष 2018-19 की चौथी तिमाही अंत में कंपनी पर कुल 4,590 करोड़ रुपये का कर्ज है। इस सौदे के पूरे होने के बाद कर्ज की रकम घटकर 3,000 करोड़ रुपये रह जाएगी।

 नीतिगत सुधारों से बढ़ी सस्ते घरों की मांग, आपूर्ति को मिलेगा प्रोत्साहन : CBRE
रियल्टी

नीतिगत सुधारों से बढ़ी सस्ते घरों की मांग, आपूर्ति को मिलेगा प्रोत्साहन : CBRE

नीतिगत सुधारों से आने वाले दिनों में सस्ते घरों की मांग व आपूर्ति को प्रोत्साहन मिलेगा। यह बात देश की अग्रणी रियल एस्टेट कन्सल्टिंग कंपनी सीबीआरई साउथ एशिया प्राइवेट लिमिटेड ने अपनी हालिया रिपोर्ट में कही है।

 डीडीए ने नई आवासीय योजना की ऑनलाइन शुरुआत की   
रियल्टी

डीडीए ने नई आवासीय योजना की ऑनलाइन शुरुआत की   

दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने सोमवार को अपनी नई आवासीय योजना की ‘ऑनलाइन’ शुरूआत की है, जिसमें चार श्रेणियों में लगभग 18,000 फ्लैट उपलब्ध होंगे। अधिकारियों ने यह जानकारी दी है।

 किराये पर घर देने के लिए ऑनलाइन बाजार में उतरने की प्रॉपटाइगर की तैयारी   
रियल्टी

किराये पर घर देने के लिए ऑनलाइन बाजार में उतरने की प्रॉपटाइगर की तैयारी   

सिंगापुर की कंपनी एलारा टेक्नोलॉजीज़ देश में किराये पर घर देने वाली ऑनलाइन कंपनियों के अधिग्रहण के मौके तलाश रही है। सूत्रों ने इसकी जानकारी दी है।

 घर बनाने की नई तकनीक का प्रयोग छह शहरों में किया जाएगाः आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय   
रियल्टी

घर बनाने की नई तकनीक का प्रयोग छह शहरों में किया जाएगाः आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय   

देश के छह शहरों को एक प्रायोगिक योजना के लिए चुना गया है। इस योजना के तहत नई तकनीक के इस्तेमाल से कम खर्च में अधिक टिकाऊ एवं आपदा-रोधी 1,000 मकान बनाये जाएंगे। आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी।

घर बनाने वालों को सरकार ने दी राहत, अब निर्माणाधीन घरों पर केवल 5 फीसदी लगेगी GST 
रियल्टी

घर बनाने वालों को सरकार ने दी राहत, अब निर्माणाधीन घरों पर केवल 5 फीसदी लगेगी GST 

रियल्टी क्षेत्र को प्रोत्साहन देने के लिए वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद ने रविवार को निमार्णाधीन आवासी संपत्तियों पर जीएसटी 12 फीसदी से घटाकर पांच फीसदी कर दिया। जीएसटी नई दरें एक अप्रैल से लागू होगी।

 रियल्टी सेक्टर के लिए जीएसटी राहत जल्द : गोयल  
रियल्टी

रियल्टी सेक्टर के लिए जीएसटी राहत जल्द : गोयल  

वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को कहा कि सरकार रियल एस्टेट सेक्टर को राहत देने पर विचार कर रही है और जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) परिषद की अगली बैठक में इन पर कुछ कदम उठाए जाएंगे, साथ ही उन्होंने बैंक को रियल्टी सेक्टर के साथ बंद पड़ी परियोजनाओं को लेकर दो हफ्तों में बैठक करने को कहा है।

 बजट से एक बार फिर रीयल्टी बाजार में उछाल की उम्मीद
रियल्टी

बजट से एक बार फिर रीयल्टी बाजार में उछाल की उम्मीद

रीयल्टी उद्योग क्षेत्र ने अंतरिम बजट को मकान खरीदने वालों के लिए उत्साहजनक बताया है और कहा है कि इससे पिछले दो साल से मांग में कमी और नकदी संकट का सामना कर रहे उद्योग को अनिवार्य बढ़त देने वाला बजट है।

 आयकर रियायत से उत्साहित होंगे मकान के खरीदार, बढ़ेगी बिक्री
रियल्टी

आयकर रियायत से उत्साहित होंगे मकान के खरीदार, बढ़ेगी बिक्री

वित्तमंत्री पीयूष गोयल द्वारा वर्ष 2019-20 के लिए शुक्रवार को पेश किए गए अंतरिम बजट में आयकर में रियायत की घोषणा से रियल स्टेट सेक्टर को उम्मीद है कि घरों की बिक्री बढ़ सकती है। बजट में बिना बिके हुए घरों/फ्लैटों के अनुमानित किराये पर कर-शुल्क से छूट की अवधि को परियोजना पूर्ण होने के वर्ष के अंतिम समय के एक वर्ष से बढ़ाकर दो वर्ष तक करने का प्रस्ताव किया गया है।

 अंतरिम बजट में रियल्टी सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए कर में छूट
रियल्टी

अंतरिम बजट में रियल्टी सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए कर में छूट

रियल एस्टेट सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए केंद्र ने शुक्रवार को कई कदम उठाने का प्रस्ताव दिया है, जिसमें बिना बिके हुए घरों/फ्लैटों के अनुमानित किराये पर कर-शुल्क से छूट की अवधि को परियोजना पूर्ण होने के वर्ष के अंतिम समय के एक वर्ष से बढ़ाकर दो वर्ष तक करने का प्रस्ताव किया है।

न्यायालय का यूनिटेक के प्रबंध निदेशक संजय चंद्रा और अजय चंद्रा को जमानत देने से इंकार
रियल्टी

न्यायालय का यूनिटेक के प्रबंध निदेशक संजय चंद्रा और अजय चंद्रा को जमानत देने से इंकार

उच्चतम न्यायालय ने मकान खरीदारों का कथित रूप से धन हड़पने के मामले में यूनिटेक के प्रवर्तक संजय चंद्रा और अजय चंद्रा को जमानत पर रिहा करने से बुधवार को इंकार कर दिया। ये दोनों पिछले करीब डेढ़ साल से तिहाड़ जेल में बंद हैं।

 2019 के बजट में रीयल एस्टेट क्षेत्र के करों में सुधार की मांग
रियल्टी

2019 के बजट में रीयल एस्टेट क्षेत्र के करों में सुधार की मांग

घरेलू अर्थव्यवस्था में करीब छह प्रतिशत का योगदान करने वाले रीयल एस्टेट क्षेत्र ने सरकार से बजट-2019 में करों में सुधार, स्टाम्प शुल्क को जीएसटी में समाहित करने तथा मकान खरीदने वालों द्वारा गृह ऋण पर चुकाए गए ब्याज पर कर कटौती की सीमा बढ़ाने की सिफारिश की है।

आम्रपाली के फ्लैट का पंजीकरण कराने की अनुमति देने के पक्ष में न्यायालय
रियल्टी

आम्रपाली के फ्लैट का पंजीकरण कराने की अनुमति देने के पक्ष में न्यायालय

संकट का सामना कर रहे आम्रपाली ग्रुप द्वारा बनाए गए फ्लैट में रहने वाले खरीदारों को राहत प्रदान करने के लिए उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को संकेत दिया कि वह फ्लैट मालिकों को अपने आवास को संबंधित प्राधिकारों के समक्ष पंजीकरण कराने की अनुमति दे सकता है।

आवास ऋण लेने के मामले में शीर्ष पर है महाराष्ट्र, इन शहरों में सबसे ज्यादा डिमांड
रियल्टी

आवास ऋण लेने के मामले में शीर्ष पर है महाराष्ट्र, इन शहरों में सबसे ज्यादा डिमांड

आवास ऋण अर्थात् होम लोन लेने के मामले में महाराष्ट्र के लोग अव्वल रहे हैं। एक रपट के अनुसार सितंबर 2018 तक बांटे गए कुल आवास ऋण में महाराष्ट्र की हिस्सेदारी 24 प्रतिशत है। मुंबई के साथ ठाणे और पुणे में आवास ऋण की मांग सबसे ज्यादा है।

GST परिषद की 10 जनवरी को बैठक, निर्माणाधीन फ्लैट पर रियायत देने पर विचार
रियल्टी

GST परिषद की 10 जनवरी को बैठक, निर्माणाधीन फ्लैट पर रियायत देने पर विचार

माल एवं सेवाकर (जीएसटी) परिषद की दस जनवरी को बैठक होनी तय हुई है। इस बैठक में निर्माणाधीन फ्लैट और मकानों पर जीएसटी दर को घटाकर पांच प्रतिशत किये जाने पर विचार किया जा सकता है। इसके साथ ही लघु और मध्यम उद्योगों के लिये कारोबार छूट की सीमा को भी बढ़ाने पर विचार विमर्श हो सकता है।

2018 में सस्ते मकानों की बिक्री से रियल स्टेट में आया सुधार
रियल्टी

2018 में सस्ते मकानों की बिक्री से रियल स्टेट में आया सुधार

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) और नोटबंदी की दोहरी मार झेलने के बाद देश के रियल स्टेट क्षेत्र में इस साल ब्रिकी बढ़ने से सुधार देखा गया।

सरकार की रहम : निर्माणाधीन घरों पर जीएसटी को 5% करने पर हो रहा है विचार
रियल्टी

सरकार की रहम : निर्माणाधीन घरों पर जीएसटी को 5% करने पर हो रहा है विचार

माल एवं सेवा (जीएसटी) परिषद शनिवार को 23 वस्तुओं पर जीएसटी की दर कम करने के बाद अब अगले महीने होने वाली बैठक में निर्माणाधीन आवासीय इकाइयों और और कम्प्लीशन (निर्णयकार्य सम्पन्न होने का प्रमाण पत्र) की प्रतीक्षा में पड़े तैयार फ्लैट पर कर की दर को घटाकर पांच प्रतिशत कर सकता है। एक अधिकारी ने यह बात कही।

2018 में हुई मकान बिक्री में वृद्धि, पर नकदी संकट ने रोकी रीयल एस्टेट की तेज उड़ान
रियल्टी

2018 में हुई मकान बिक्री में वृद्धि, पर नकदी संकट ने रोकी रीयल एस्टेट की तेज उड़ान

जमीन जायदाद क्षेत्र में साल 2018 में सुधार का संकेत दिखा और किफायती फ्लैटों की मांग और कीमतों के स्थिर रहने से सभी प्रमुख शहरों में मकानों की बिक्री में करीब 50 प्रतिशत की वृद्धि देखी गयी।

कायम रही रेपो दर तो घर खरीदारों को मिलेगा प्रोत्साहन 
रियल्टी

कायम रही रेपो दर तो घर खरीदारों को मिलेगा प्रोत्साहन 

रीयल एस्टेट क्षेत्र ने भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों के मोर्चे पर यथास्थिति कायम रखने के फैसले का स्वागत किया है। रीयल एस्टेट क्षेत्र का कहना है कि इससे घर के खरीदारों का भरोसा कायम होगा और बिक्री में सुधार आएगा।

इसलिए रीयल्टी क्षेत्र में निवेश के लिए मुंबई बना है सबसे आकर्षक शहर
रियल्टी

इसलिए रीयल्टी क्षेत्र में निवेश के लिए मुंबई बना है सबसे आकर्षक शहर

एशिया प्रशांत में रीयल्टी क्षेत्र में बेहतर निवेश संभावना की दृष्टि से मुंबई भारत का सबसे आकर्षक शहर है। उसके बाद बेंगलुरु और नई दिल्ली का नंबर आता है। सोमवार को एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई।

 HDFC ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 1,100 करोड़ रुपये की सब्सिडी जारी की    
रियल्टी

HDFC ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 1,100 करोड़ रुपये की सब्सिडी जारी की   

आवासीय क्षेत्र में वित्तीय सेवाएं देने वाली कंपनी एचडीएफसी ने रविवार को कहा कि उसने सरकार की महत्वाकांक्षी प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के तहत 51 हजार से अधिक ग्राहकों को 1,100 करोड़ रुपये से अधिक की सहायता वितरित की है।

 इन्वेस्टर्स क्लिनिक ने अप्रैल-सितंबर में बेचे 7,122 फ्लैट 
रियल्टी

इन्वेस्टर्स क्लिनिक ने अप्रैल-सितंबर में बेचे 7,122 फ्लैट 

रीयल एस्टेट ब्रोकरेज कंपनी इन्वेस्टर्स क्लिनिक ने चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही अप्रैल-सितंबर में 2,800 करोड़ रुपये के 7,122 फ्लैट बेचे। कंपनी ने बयान में कहा कि उसने देशभर में पहली दो तिमाहियों में 7,122 आवासीय इकाइयों की बिक्री की।

 साहा ग्रूप नोएडा में रेसिडेंशियल प्रॉजेक्ट के लिए करेगी 160 करोड़ का इन्वेस्टमेंट 
रियल्टी

साहा ग्रूप नोएडा में रेसिडेंशियल प्रॉजेक्ट के लिए करेगी 160 करोड़ का इन्वेस्टमेंट 

रीयल्टी कंपनी साहा ग्रूपे नोएडा में 6.25 एकड़ में एक नयी आवासीय परियोजना विकसित कर रही है। वह इस पर करीब 160 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। कंपनी के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि यह जमीन लॉजिक्स से खरीदी गयी है।

 दिल्ली में 4 लाख आवासीय इकाइयों का निर्माण लंबित : रपट  
रियल्टी

दिल्ली में 4 लाख आवासीय इकाइयों का निर्माण लंबित : रपट  

दिल्ली-एनसीआर और मुंबई में सितंबर तक चार लाख आवासीय इकाइयों का निर्माण कार्य तय समयसीमा से पीछे चल रहा था। यह जानकारी बुधवार को रियल स्टेट पोर्टल 99 एकड़ डॉट कॉम की एक रपट से मिली।

 ओयो ने की दीर्घकालिक किराए के आवास के कारोबार की शुरुआत    
रियल्टी

ओयो ने की दीर्घकालिक किराए के आवास के कारोबार की शुरुआत   

होटल श्रृंखलाएं जलाने वाली ओयो रूम्स ने लम्बी अवधि के किराए के आवास उपलब्ध कराने के कारोबार में भी कदम रखने की सोमवार को घोषणा की। कंपनी ‘ओयो लिविंग’ नाम से इस कारोबार में पेश की जाने वाली आवास इकाइयों का पूरा प्रबंध सुलभ कराएगी।

 तीसरी तिमाही में नयी आवासीय इकाइयों की पेशकश के मामले में कोलकाता सबसे आगे    
रियल्टी

तीसरी तिमाही में नयी आवासीय इकाइयों की पेशकश के मामले में कोलकाता सबसे आगे   

त्योहारी सीजन कोलकाता के आवासीय क्षेत्र के लिए अच्छी खबर लेकर आया है। वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में नई आवासीय इकाइयों की पेशकश के मामले में यह महानगर सबसे आगे रहा है।

थापड़ बिल्डर्स की आवासीय परियोजना ‘दि अर्थाह’ लांच
रियल्टी

थापड़ बिल्डर्स की आवासीय परियोजना ‘दि अर्थाह’ लांच

रियल-एस्टेट डेवलपर थापड़ बिल्डर्स ने गाजियाबाद के वैशाली में अपनी पहली आवासीय परियोजना ‘दि अर्थाह’ की घोषणा की है। शहर की सबसे ऊंची इमारत होने के साथ ही यह राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र की शीर्ष 10 ऊंची इमारतों में से एक होगी।

NBCC पूरी करेगी आम्रपाली की अधूरी परियोजनाएं, DRT बेचेगी संपत्तियां: SC
रियल्टी

NBCC पूरी करेगी आम्रपाली की अधूरी परियोजनाएं, DRT बेचेगी संपत्तियां: SC

उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को सरकारी क्षेत्र की निर्माण कंपनी एनबीसीसी को आम्रपाली समूह की अधूरी पड़ी परियोजनाएं पूरी करने की जिम्मेदारी सौंप दी।

आम्रपाली में फ्लैट बुक किया है, तो आपके लिए काम की खबर
रियल्टी

आम्रपाली में फ्लैट बुक किया है, तो आपके लिए काम की खबर

SC ने संकटग्रस्त आम्रपाली समूह के 46575 फ्लैटों का निर्माण 8500 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से NBCC के जरिए पूरा कराने का भरोसा दिलाया है। 

 सुपरनोवा में फ्लैट की डिलिवरी शुरू : सुपरटेक  
रियल्टी

सुपरनोवा में फ्लैट की डिलिवरी शुरू : सुपरटेक  

रियल एस्टेट डेवलपर ‘सुपरटेक’ ने कहा है कि दिल्ली-एनसीआर की आवासीय परियोजना ‘सुपरनोवा’ में फ्लैट की डिलिवरी शुरू हो चुकी है। यह बहुमंजिला आवासीय परिसर नोएडा के सेक्टर 94 में बनाया गया है।

 डीएलएफ, सिंगापुर की जीआईसी दिल्ली में आवासीय परियोजना पर निवेश करेंगे 1,250 करोड़ रुपये  
रियल्टी

डीएलएफ, सिंगापुर की जीआईसी दिल्ली में आवासीय परियोजना पर निवेश करेंगे 1,250 करोड़ रुपये  

रीयल्टी कंपनी डीएलएफ और सिंगापुर का सरकारी निवेश कोष जीआईसी दिल्ली में आवासीय परियोजना विकसित करेंगे। इसके लिए दोनों आने वाले चार सालों में 1,250 करोड़ रुपये का निवेश करेंगे।

 टीएण्डटी ग्रुप ने लांच किए ऐप-कंट्रोल्ड अत्याधुनिक टी-होम्स, यह है इसकी खासियत 
रियल्टी

टीएण्डटी ग्रुप ने लांच किए ऐप-कंट्रोल्ड अत्याधुनिक टी-होम्स, यह है इसकी खासियत 

रियल इस्टेट की उभरती हुई कंपनी-टीएण्डटी ग्रुप ने सिद्धार्थ विहार में अपने ‘इंटेलिजेंट होम्स’ प्रोजेक्ट-टी होम्स के लांच के साथ भारतीय रियल इस्टेट बाजार में प्रवेश की घोषणा की।

यहां पर देश का सबसे बड़ा रियल्टी हब लांच, 600 लक्जरी फ्लैट्स हो गए तैयार  
रियल्टी

यहां पर देश का सबसे बड़ा रियल्टी हब लांच, 600 लक्जरी फ्लैट्स हो गए तैयार  

मुंबई की अग्रणी हाउसिंग फर्म ओमकार रीयलटर्स एंड डेवलपर्स ने यहां अंधेरी हाइवे के पास ओमकार इंटरनेशनल डिस्ट्रिक्ट (ओआईडी) परियोजना लांच की है, जो देश का सबसे बड़ा मिश्रित उपयोग रियल्टी हब है। कंपनी ने बताया कि इस परियोजना में 600 से अधिक लक्जरी फ्लैट्स उपलब्ध हैं।

 देशभर में 3.3 लाख करोड़ रुपये की आवासीय परियोजनाओं में देरी
रियल्टी

देशभर में 3.3 लाख करोड़ रुपये की आवासीय परियोजनाओं में देरी

प्रमुख शहरों में बिक्री कारोबार में गिरावट, डेवलपरों के समक्ष नकदी का संकट तथा परियोजनाओं की मंजूरी से संबंधित मुद्दों के कारण देशभर में 3.3 लाख करोड़ रुपये (47 अरब डॉलर) से अधिक की आवासीय परियोजनायें देरी से चल रही है। एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है।