अमरावती : करीब आठ घंटे तक चले गतिरोध के बाद YSRCP सरकार ने मंगलवार को आंध्र प्रदेश विधान परिषद में दो विधेयक पेश किए जिसके तहत राज्य में तीन राजधानी बनाने का प्रस्ताव है।

विपक्षी दल TDP ने नियमों का हवाला देते हुए विधेयक पेश करने से रोका जिससे सुबह के बाद पांच बार सदन को स्थगित करना पड़ा। ऊपरी सदन में तेदेपा बहुमत में है। इसके बाद विधान परिषद के सभापति एम ए शरीफ ने सरकार को मुख्य विधेयकों को पेश करने की अनुमति दी।

गतिरोध को समाप्त करते हुए आंध्र प्रदेश विकेंद्रीकरण और सभी क्षेत्रों का समग्र विकास विधेयक, 2020 और आंध्रप्रदेश राजधानी क्षेत्र विकास प्राधिकरण कानून, 2014 को वापस लेने का विधेयक पेश किया और इस पर चर्चा तथा पारित कराने के लिए देर रात तक सदन की बैठक हो सकती है।

राज्य विधानसभा ने सोमवार की देर रात को राज्य की कार्यकारी राजधानी विशाखापटनम, विधायी राजधानी अमरावती और न्यायिक राजधानी कर्नूल बनाने के लिए पेश विधेयक को पारित कर दिया। अमरावती क्षेत्र के किसानों तथा तेदेपा के विरोध के बावजूद कल विधेयक पारित हो गया।